चालान कटने से परेशान लोग, दो महीने में काटे गए 40 हजार से ज्यादा वाहनों के चालान

Highlights

-पुलिसकर्मियों (Punjab Police) के टारगेट के चक्कर में आम आदमी पिस्ता जा रहा है
- 2 महीने में चालानों (Vehicle invoice) की संख्या 40,000 के पार पहुंच गई हैं
- शहर के हर चौक चौराहे पर पुलिस चालान (Police challan) काटते नजर आ रही हैं

नई दिल्ली. इन दिनों पंजाब (Punjab) में चालान (motor vehicle) के चक्कर में आम लोगों की जेब ढीली हो रही है। पुलिसकर्मियों (Punjab Police) के टारगेट के चक्कर में आम आदमी पिस्ता जा रहा है। 2 महीने में चालानों (Vehicle invoice) की संख्या 40,000 के पार पहुंच गई हैं। शहर के हर चौक चौराहे पर पुलिस चालान (Police challan) काटते नजर आ रही हैं। वहीं ट्रैफिक (Traffic Police) थाने में चलाने की पेंडिंग लिस्ट लंबी होती जा रही है। क्योंकि अभी तक ट्रैफिक पुलिस का सॉफ्टवेयर ही अपडेट नहीं हो सका है।

नहीं मिल पा रहा चालान

चालान कटने से परेशान लोगों का कहना है कि चालान पिछले महीने 2 तारीख को कटा था। इसके बाद लगातार आरटीओ दफ्तर जा रहे हैं। न तो आरटीओ दफ्तर चालान पहुंचा और न ही ट्रैफिक थाने में चालान मिल रहा है। वहां पर बैठे कर्मचारी कह रहे हैं कि चालान अधिक होने के कारण चालान नहीं मिल पा रहा। तीन बार चक्कर लगा चुका हूं। ट्रैफिक पुलिस चालान तो कर रही है, लेकिन उसके भुगतान के लिए कुछ न कुछ सोर्स जरूर होना चाहिए।

नहीं हुआ सॉफ्टवेयर अपडेट

जानाकारी के मुताबिक ट्रैफिक पुलिस और कमिश्नरेट पुलिस द्वारा 2 महीने में 40698 चालान काटे गए हैं और 2069 वाहनों को इंपाउंड किया गया। इसमें से आधे चालान भी नहीं भुगते जा सके। क्योंकि ट्रैफिक पुलिस का सॉफ्टवेयर अपडेट नहीं हो पाया। चालानों की संख्या 25 हजार के पार पहुंच गई है जो ट्रैफिक थाने पड़े हैं।

राज्य में आने के लिए करवाना होगा ई-रजिस्ट्रेशन

वहीं मंगलवार यानी आज से राज्य में दाखिल होने या राज्य से होकर गुजरने वाले हर व्यक्ति के लिए ई-रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य कर दिया गया है। राज्य सरकार ने बाहरी राज्यों खासकर दिल्ली/ एनसीआर से आने वाले लोगों से पैदा होने वाले खतरे के मद्देनजर यह कदम उठाया है। सरकार के दिशानिर्देशों के मुताबिक, यात्री घर बैठे ही ऑनलाइन ई-रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं।

सड़क के रास्ते पंजाब में दाखिल होने वाले या पंजाब से गुजरने वाले यात्रियों को पंजाब सरकार द्वारा सख्त हिदायत दी गई है कि वे यात्रा शुरू करने से पहले या तो कोवा ऐप या वेब लिंक https://cova.punjab.gov.in/registration द्वारा स्व-रजिस्टर्ड हों

वहीं कोरोना महामारी का कहर बढ़ने के साथ पंजाब में पिछले 24 घंटे में पांच और मरीज की मौत हो गई। यह आंकड़ा सोमवार तक का है। मंगलवार को जारी स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार पंजाब में कोरोना वायरस से 6,283 लोग संक्रमित है, जिसमें 4,408 लोग ठीक होकर घर पहुंच गए. वहीं 164 लोगों की मौत हो गई।

Ruchi Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned