मौसम विभाग की चेतावनीः अगले 36 घंटे कई राज्यों में होगी मूसलाधार बारिश, 9 राज्यों को ऑरेंज अलर्ट

मौसम विभाग की चेतावनीः अगले 36 घंटे कई राज्यों में होगी मूसलाधार बारिश, 9 राज्यों को ऑरेंज अलर्ट

मौसम विभाग की चेतावनी, अभी नहीं रुकेगा मानसून। आने वाले 36 घंटे कई राज्यों में जमकर बरसेंगे बदरा।

नई दिल्ली। मानसून इस वक्त अपने परवान पर है। खास तौर पर पहाड़ी इलाकों में मानसून पूरे शबाब पर है। उत्तराखंड से लेकर हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर के कई इलाकों में झमाझम बारिश ने लोगों का जीना मुहाल कर रखा है। हालांकि देश के कई मैदानी इलाकों में 10 दिन से बारिश ने दूरी बनाए रखी थी, जो मंगलवार और बुधवार को कम हुई। मौसम विभाग की माने तो देश के 9 राज्यों में आने वाले 36 घंटे में भारी बारिश की संभावना है। इसके लिए इन राज्यों में ऑरेंज अलर्ट भी जारी किया गया है। आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में वर्षा के कारण हुए हादसों में बीते चौबीस घंटे के दौरान दस और लोगों की जान चली गयी।

सावन में तबाही को रोकने के लिए बनी परंपरा, दुल्हन को पांच दिन कपड़ों से करना पड़ता है परहेज
उत्तराखंड में उफान पर नदियां
भारी बारिश के चलते उत्तराखंड में इस बार जमकर तबाही मची है। पिछले तीन चार दिनों से लगातार बारिश के कारण नदियां उफान पर हैं। वहीं पहाडों से जगह-जगह भूस्खलन होने के कारण मोटर मार्ग बाधित हो गए हैं। इससे सैकड़ों लोग प्रभावित हुए हैं...यही नहीं भारी बारिश ने जनजीवन को पूरी तरह प्रभावित किया है।

महाराष्ट्रः मराठा संगठनों ने आरक्षण को लेकर किया बंद का ऐलान, मुस्लिम संगठनों का भी साथ
अगले 24 घंटे होगी भारी बारिश
हिमाचल प्रदेश में पिछले 48 घंटे के दौरान हल्की से लेकर भारी बारिश हुई है। शिमला स्थित मौसम विभाग ने बताया कि अगले 24 घंटे में राज्य के कुछ हिस्सों में और भी भारी बारिश होने का अनुमान है। मौसम विभाग ने बताया कि शिमला से 20 किलोमीटर दूर स्थित कुफरी राज्य में सबसे ठंडा स्थान रहा। यहां के कांगड़ा, मंडी, हमीरपुर और सिरमौर जिलों में भारी बारिश हुयी है।


इन राज्यों में ऑरेंज अलर्ट
मौसम विभाग के मुताबिक आने वाले 36 घंटों में जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार, ओडिशा, असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, कर्नाटक जैसे राज्यों में भारी बारिश की संभावना है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned