नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन जारी, पीएम सशर्त निमंत्रण को अस्वीकार किया

Highlights

  • किसान प्रतिनिधियों का कहना है कि एक निर्णायक लड़ाई को लेकर दिल्ली आए हैं।
  • पीएम मोदी ने कहा कि विपक्ष छल का सहारा लेकर भ्रम फैलाने की कोशिश कर रहा है।

 

नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन पांचवें दिन भी जारी रहा। दिल्ली सीमा पर डेरा जमाए किसानों ने सोमवार को अपनी मांगों को पूरा होने तक आंदोलन जारी रखने को कहा है। कृषि कानून के विरोध में एक प्रेसवार्ता का भी आयोजन किया गया। किसान नेता के अनुसार सभी राज्यों के किसान संगठनों के साथ बैठक नहीं कर सकते।

पंजाब के 30 संगठनों के साथ ऐसा कर सकते हैं। भारतीय किसान यूनियन के महासचिव जगमोहन सिंह का कहना है कि उन्होंने पीएम के सशर्त निमंत्रण को अस्वीकार कर लिया है। किसानों के प्रतिनिधियों का कहना है कि वे एक निर्णायक लड़ाई को लेकर दिल्ली आए हैं।

वहीं,कृषि सुधार कानूनों के खिलाफ देश में हो रहे किसानों के आंदोलन के पर पीएम नरेन्द्र मोदी ने इसे लेकर विपक्षी दलों पर करारा हमला बोला है। उन्होंने सोमवार को कहा कि विपक्ष छल का सहारा लेकर भ्रम फैलाने की कोशिश कर रहा है।

pm modi
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned