scriptNational Tributes to Swami vivekananda on his 150th birth anniversary | स्वामी विवेकानंद की 156वीं जयंती: पीएम मोदी समेत देशभर ने याद किए महान विचारक के संदेश | Patrika News

स्वामी विवेकानंद की 156वीं जयंती: पीएम मोदी समेत देशभर ने याद किए महान विचारक के संदेश

विवेकानंद की जयंती पर 12 जनवरी को प्रतिवर्ष राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है।

नई दिल्ली

Updated: January 12, 2019 02:41:07 pm

नई दिल्ली। देश के महान विचारक हे स्वामी विवेकानंद की आज 150वीं जयंती है। अमरीका के शिकागो में हुई धर्म सभा में अपने धाराप्रवाह भाषण की वजह से अंतरराष्ट्रीय सुर्खियों में आए भारतीय संन्यासी स्वामी विवेकानंद की जयंती पर पीएम मोदी समेत कई नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। उनके विचार, उपदेशों और युवाओं को प्रेरित करने वाले संदेशों को याद किया।
Swami vivekanand
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर लिखा, 'उठो, जागो और तब तक मत रूको जब तक लक्ष्य पूरा न हो जाए। आदरणीय स्वामी विवेकानंद की जयंती पर इन शक्तिशाली शब्दों और समृद्ध विचारों को याद करते हुए। उन्होंने सेवा और त्याग के आदर्शों पर जोर दिया। युवा शक्ति में उनकी आस्था अटूट थी'।
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने श स्वामी विवेकानंद के शांति और भाईचारे के संदेश को याद करने के लिए सभी से आग्रह करते हुए महान विचारक की 156वीं जयंती मनाई। ममता ने ट्वीट कर कहा,"आज महान उपदेशक और दार्शनिक की जयंती है..स्वामी विवेकानंद। हमें हमेशा शांति और भाईचारे के संदेश को याद रखना चाहिए, जिसके लिए स्वामीजी खड़े हुए।" उन्होंने कहा, "उनकी याद में आज हम राज्यभर में विवेक उत्सव मना रहे हैं।" देशभर में इस दिन के महत्व का जिक्र करते हुए ममता ने लिखा, "स्वामी विवेकानंद के जन्मदिन को राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में भी मनाया जाता है। देश के युवाओं को नफरत और अनिश्चितता के माहौल को दूर करने और इस महान राष्ट्र के गौरव को और बढ़ाने के लिए साथ आना चाहिए।"
पद्म भूषण से सम्मानित अमरीकी वैदिक टीचर डेविड फ्रॉली ने विवेकानंद के बारे में लिखा है कि आइंस्टीन ने विज्ञान के लिए जो किया वह स्वामी विवेकानंद ने विश्व आध्यात्मिकता के लिए किया, योग, वेदांत का प्रसार, सार्वभौमिक चेतना और ग्रहों के युग के लिए आत्मानुभूती। उनकी शिक्षाएं प्रासंगिक, गतिशील और अन्य शताब्दी के लिए परिवर्तनशील हैं।
विवेकानंद का वास्तविक नाम नरेंद्रनाथ दत्त है। उनका जन्म कलकत्ता (कोलकाता) में 12 जनवरी 1863 को हुआ था। उनका निधन चार जुलाई 1902 को हुआ था। 12 जनवरी को प्रतिवर्ष राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

बेरोजगारों के लिए सबसे बड़ी खबर: राजस्थान में अब अधिकांश भर्तियों में नहीं होगा साक्षात्कारQUAD Summit: अमरीकी राष्ट्रपति ने उठाया रूस-यूक्रेन युद्ध का मुद्धा, मोदी बोले- कम समय में प्रभावी हुआ क्वाड, लोकतांत्रिक शक्तियों को मिल रही ऊर्जाWhat is IPEF : चीन केंद्रित सप्लाई चैन का विकल्प बनेंगे भारत, अमरीका समेत 13 देशWeather Update: दिल्ली में आज भी बारिश के आसार, इन राज्यों में आंधी-तूफान की संभावनाहरियाणा के जींद में सड़क हादसा: ट्रक और पिकअप की टक्‍कर में 6 की मौत, 17 घायलRajasthan: सितंबर से दिए जाएंगे महिला मुखियाओं को इंटरनेट समेत मुफ्त 1.33 करोड़ स्मार्ट फोन, 7500 करोड़ का टेंडरटाइम मैगजीन ने जारी की 100 प्रभावशाली लोगों की लिस्ट, जेलेंस्की, पुतिन के साथ 3 भारतीय भी शामिलHaj 2022: दो साल बाद हज पर जाएंगे मोमिन, पहला भारतीय जत्था 4 जून को होगा रवाना
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.