सर्जरी कराकर पुरुष से महिला बना नौसैनिक, हटाने की सिफारिश

नेवी में सेक्स बदलवाकर एक पुरुष अफसर के महिला बनने का मामला सामने आया है। उसे हटाए जाने की सिफारिश की गई है। 

विशाखापट्टनम.नई दिल्ली . नेवी में एक ऑफिसर पर सेक्स चेंज कराने का मामला सामने आया है। इसके बाद उसकी नौकरी खतरे में पड़ गई है। पुरुष से महिला बने इस अफसर ने सात साल पहले इंडियन नेवी ज्वाइन की थी। अब वह गिरी से साबी हैं। अपनी ड्यृटी भी उसी जज्बे से कर रही हैं, लेकिन नियमों के चलते उन्हें नौकरी से निकालने की सिफारिश की गई है। पिछले साल गिरी सेक्स चेंज करवाकर महिला बन थे। अब उनका नाम साबी है। 25 साल की यह पहली ट्रांसजेंडर नौसैनिक साबी पर नेवी ने नियमों तोडऩे का आरोप लगाकर दिल्ली हेडक्वॉर्टर से उनकी सेवाएं रद्द किए जाने की मांग की है।

sabi1

दुश्मन को मारने के लिए अब भी ट्रिगर दबा सकती हूं
सूत्रों के अनुसार इस केस में हाईलेवल जांच चल रही है और जल्द ही कुछ न कुछ एक्शन लिया जा सकता है। नेवी में महिलाएं ऑफिसर के पद पर काम करती हैं लेकिन नौसैनिक के पद पर नहीं। जब से साबी को उनके खिलाफ की गई सिफारिश का पता चला है कि वे हैरान हैं उनका कहना है कि यह सही बात है कि मैंने सेक्स चेंज करवाया है लेकिन मैं यह नहीं मानती कि ऐसा करने मेरी ड्यूटी प्रभावित हुई है। अब भी मेरे दो हाथ और दो पैर हैं और अपनी अपनी ड्यूटी अच्छे से निभा रही हूं। मैं अब भी जरूरत पडऩे पर दुश्मन को मारने के लिए ट्रिगर दबा सकती हूं। अगर मेरी नौकरी चली गई तो मैं बर्बाद हो जाऊंगी।

sabi2

बिहार में बचपन, जवानी पश्चिम बंगाल में
साबी ने बचपन बिहार में गुजारा और उसके बाद पश्चिम बंगाल आ गए। इंटर परीक्षा पास करने और 18 साल का होने के बाद साबी ने नौसेना ज्वाइन की। आईएनएस चिल्का में ट्रेनिंग लेने के बाद शिप ट्रेनिंग के लिए विशाखापट्टनम पहुंचे। गिरी तब से यहीं पोस्टेड हैं। साबी ने बताया कि जब मैंने नेवी ज्वाइन की मैं गिरी (पुरुष) थी। एक साल बाद मुझे कुछ अलग सा महसूस होने लगा। मैंने डॉक्टरों से चैकअप कराया तो पता चला कि मैं जैंडर डिसऑर्डर से जूझ रही थी। इस कारण मैं कुछ समय क ेलिए तनाव में रही। आखिरकार 2016 में दिल्ली जाकर मैंने सेक्स बदलवाने क ेलिए सर्जरी करवाई, जिसमें 3 लाख रुपए का खर्च आया।

 

ऐसे हुआ खुलासा
विशाखापट्टनम साबी ने अपनी सर्जरी के बारे में कुछ नहीं बताया। यूरिनरी इन्फेक्शन होने पर उनके युवक से युवती बनने कहानी सामने आई। कुछ समय बाद साबी ने आरोप लगाया है कि जब से रक्षा मंत्रालय ने इस मामले में स्पष्टीकरण मांगा है। तब से उनके सीनियर्स भी उनके बात नहीं करते। नेवी अधिकारियों का कहना है कि नियम तो नियम होते हैं। मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि यह संवेदनशील मामला है और महिला बनना गिरी की अपनी मर्जी थी, लेकिन नौसेना भी नियमों पर चलती है, जिसे सभी को मानना होता है।

sabi3
Dharmendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned