महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने बताए घरेलू हिंसा से बचने के तरीके

Highlight

- रेखा शर्मा ने कहा है कि महिलाएं लॉकडाउन के वक्त को अवसर के रूप में देखें

- लॉकडाउन में अधिक बढ़ गई है महिलाओं की जिम्मेदारी- रेखा शर्मा

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ( CoronaVirus ) महामारी के चलते पूरे देश में लॉकडाउन लगा हुआ है। पीएम मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन के बाद इसे 19 दिन के लिए और बढ़ा दिया था। लॉकडाउन के चलते पूरा देश अपने घरों में कैद है, जिससे लोगों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। लॉकडाउन के दौरान एक हैरान कर देने वाली बात ये सामने आई है कि महिलाओं के प्रति घरेलू हिंसा के मामले तेजी से बढ़े हैं।

घरेलू हिंसा को ना सहें महिलाएं- रेखा शर्मा

इन घटनाओं को लेकर राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा है कि पीड़ित महिलाओं को हिम्मत दिखानी होगी। उन्होंने कहा है कि महिलाएं घरेलू हिंसा को ना सहें और 100 नंबर या फिर 181 डायल करें। रेखा शर्मा ने कहा है कि घरेलू हिंसा की शिकार होने वालीं महिलाएं मदद के लिए पड़ोसियों को बुला सकती हैं, कुल मिलाकर ये है कि चुप ना बैठें, नहीं तो अपराध को बढ़ावा मिलेगा।

लॉकडाउन में महिलाओं की जिम्मेदारी बढ़ गई है- रेखा शर्मा

राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष श्रीमती रेखा शर्मा का मानना है कि लॉकडाउन में अन्य दिनों के मुकाबले महिलाओं की जिम्मेदारी और ज्यादा बढ़ गई है। एक कार्यक्रम में बोलते हुए रेखा शर्मा ने कहा कि लॉकडाउन में भारतीय महिलाओं की जिम्मेदारी अन्य दिनों के मुकाबले बहुत ज्यादा बढ़ गयी है, लेकिन वो इसे एक अवसर की तरह लें और इस समय का सदुपयोग करें। रेखा शर्मा का कहना है कि महिलाएं अपने नए और पुराने सपनों को साकार करें। वक्त कुछ नया सीखने में लगाएं और ज्यादा से ज्यादा समय परिवार के साथ ही बिताएं।

लिंगभेद को खत्म करेगा ये समय- रेखा शर्मा

महिला आयोग की अध्यक्ष ने कहा कि स्त्री औऱ पुरुष का ये भेद हमारे समाज को कमजोर कर रहा है। हमारी सारी शिक्षा और सदप्रयासों में भी बाधा है। जरूरत है कि लोग एक दूसरे को स्त्री और पुरुष के तौर पर देखना बंद करें और हम एक दूसरे को इंसान की तरह पहचाने। उन्होंने पुरुषों को टिप्स दिया कि वो घर में अपनी माताओं, बहनों और पत्नियों के काम में हाथ बंटाये । उनका मानना है कि परिवार में दोस्ताना रिश्ता ही संबंधों को शाश्वत और मधुर रख सकता है ।

Kapil Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned