पत्थरबाजों को लेकर जवानों के बच्चों की शिकायत पर NHRC गंभीर, रक्षा मंत्रालय से मांगी रिपोर्ट

पत्थरबाजों को लेकर जवानों के बच्चों की शिकायत पर NHRC गंभीर, रक्षा मंत्रालय से मांगी रिपोर्ट

जवानों को बच्चों ने शिकायत कर NHRC का पत्थरबाजों और सैन्य अफसरों पर होने वाली पत्थरबाजी की ओर ध्यान आकर्षित कराया था।

नई दिल्ली। कश्मीर में पत्थरबाजों के खिलाफ जवानों के बच्चों की ओर से दर्ज कराई गई शिकायत पर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने गंभीरता दिखाई है। शिकायत के आधार पर आयोग ने इस मामले में रक्षा मंत्रालय से एक तथ्यात्मक रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा है। बता दें कि जवानों को बच्चों ने शिकायत कर NHRC का पत्थरबाजों और सैन्य अफसरों पर होने वाली पत्थरबाजी की ओर ध्यान आकर्षित कराया था। इसके साथ ही उन्होंने आयोग से इस मामले में जांच कराने की मांग भी की थी।

शिकायत में उठाई थी यह मांग

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने 27 जनवरी को हुई पत्थरबाजी के संदर्भ में इस शिकायत को गंभीरता से लिया है। एक अंग्रेजी समाचार पत्र के अनुसार इंडियन आर्मी के जवानों के 3 बच्चों ने एनएचआरसी में शिकायत दर्ज कराई थी। इस शिकायत में उन्होंने जम्मू कश्मीर समेत देश के अन्य राज्यों में जवानों पर की जा रही पत्थरबाजी का संज्ञान लेने की मांग की थी। उन्होंने लिखा था कि यह सीधे-सीधे जवानों के मानवाधिकार हनन से जुड़ा हुआ मामला है और इसकी जांच होनी चाहिए। बता दें कि अपनी शिकायत में जवानों के बच्चों ने ऐसी कई घटनाओं का तारीख के साथ जिक्र किया जिसमें सेना के जवानों पर पत्थरबाजी की गई हो। यहां तक कि उन्होंने मीडिया का हवाला देते हुए लिखा कि 27 जनवरी को शोपियां में बिना किसी उकसावे के पत्थरबाजी की गई, बावजूद इसके जवानों के खिलाफ FIR दर्ज की गई।

एनएचआरसी ने दिए निर्देश

बच्चों की शिकायत को मानवाधिकार आयोग ने गंभीरता से लिया है। यह कारण है कि आयोग ने इस संबंध में रक्षा मंत्रालय से तथ्यात्मक रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए कहा है। आयोग ने रक्षा मंत्रालय से स्पष्ट कहा कि इस मामले से जुड़े सारे तथ्यों को जमा करके एक रिपोर्ट तैयार करें, ताकि हम आंकलन कर सकें कि आखिर घाटी में जवानों के मानवाधिकारों की क्या स्थिति है।

Ad Block is Banned