एनआईए कोर्ट से जाकिर नाईक को झटका, पांच और संपत्तियां की जाएंगी जब्त

अदालत ने ये इस कार्रवाई का आदेश विरोधी कानून के तहत दिया है।

नई दिल्ली। एनआईए की विशेष अदालत ने शुक्रवार को विवादित धर्मगुरु जाकिर नाईक पर एक और कार्रवाई का आदेश दिया। कोर्ट ने जाकिर नाईक की पांच और संपत्तियों को जब्त करने का आदेश दिया है। अदालत ने ये इस कार्रवाई का आदेश विरोधी कानून के तहत दिया है। जाकिर नाईक की मुंबई स्थित संपत्तियां जब्त की जाएंगी।

देशविरोधी गतिविधियों के आरोप लगने के बाद से देश से बाहर है जाकिर

आपको बता दें कि गैरकानूनी गतिविधियों को लेकर प्रतिबंधित जाकिर नाईक के एनजीओ इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन से जुड़े मामले में कोर्ट ने यह आदेश आया है। जाकिर नाईक फिलहाल मलेशिया में रह रहा है। जाकिर के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग और आतंक के मामले में एनआईए जांच कर रही है। वह 2016 से देश से बाहर है। उसपर देश विरोधी और भड़काऊ भाषण के जरिए युवाओं को जेहादी बनाने का आरोप है।

इससे पहले भी कई संपत्तियां हो चुकी हैं जब्त

2 साल पहले जाकिर नाईक पर गैर-कानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) के तहत आरोप लगाए गए थे। कोर्ट ने नाईक को जून 2017 में वांटेड अपराधी घोषित किया था। मझगांव इलाके में स्थित जाकिर नाईक की पांच संपत्ति कुर्क करने की इजाजत मांगने वाली केंद्रीय एजेंसी की अर्जी विशेष अदालत ने शुक्रवार को स्वीकार कर ली। इससे पहले एनआई ने मुंबई में नाइक के दो फ्लैट और कमर्शियल प्रॉपर्ट को जब्त करने का आदेश दिया था।

संपत्ति को बेचने की फिराक में था जाकिर नाईक

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, एनआईए ने दलील दी कि जाकिर विदेशों में रहते हुए यह संपत्ति को बेचने की कोशिश कर रहा है क्योंकि भारत सरकार द्वारा उसके खिलाफ मामला दर्ज करने के बाद उस विभिन्न स्रोतों से मिलने वाला पैसा बंद हो गया है।

जाकिर पर लगे हैं ये आरोप

एनआईए के वकील ने कहा कि जाकिर नाईक कई देशों की नागरिकता हासिल करने की कोशिश कर रहा है इसलिए मझगांव की संपत्ति को बेचकर पैसा जुटाने की कोशिश कर रहा है। जाकिर पर IRF की धारा 10 UA (P) और IPC की 120B, 153A, 295A, 298 और 505(2) धाराएं के तहत मामला दर्ज है। नाईक पर अपने भड़काऊ भाषण के जरिए नफरत फैलाने, समुदायों में दुश्मनी को बढ़ावा देने और आतंकवाद का वित्तपोषण करने का आरोप है।

Show More
Kapil Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned