कैलाश सत्यार्थी से मिलीं निक्की हेली, कहा- मिलकर सुरक्षित रखेंगे बचपन

निक्की हेली ने नोबल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी से मुलाकात की और बाल तस्करी को समाप्त करने के तरीकों पर चर्चा की।

नई दिल्ली। अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन में उच्च पद पर आसीन भारतीय मूल की अमेरिकी नागरिक निक्की हेली तीन दिन के भारत दौरे पर हैं। हेली ने बुधवार को नोबल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी से मुलाकात की और बाल तस्करी को समाप्त करने के तरीकों पर चर्चा की। सत्यार्थी ने मुक्ति आश्रम में हेली से मुलाकात की और बाल तस्करी की गंभीर स्थिति को हल करने के लिए संयुक्त राष्ट्र के अनिवार्य अंतर्राष्ट्रीय प्रतिक्रिया तंत्र की जरूरत पर जोर दिया। मुक्ति आश्रम सत्यार्थी द्वारा स्थापित किया गया पुनर्वास केंद्र है।

यह भी पढ़ें: ट्रंप सरकार को कोर्ट का अल्टीमेटम, बिछड़े बच्चों को 30 दिनों में परिजनों से मिलाएं

बच्चों के साथ बच्ची बन गईं हेली
संयुक्त राष्ट्र में अमरीका की राजदूत पद पर तैनात हेली ने कहा कि यहां सत्यार्थी द्वारा स्थापित मुक्ति आश्रम और बचपन बचाओ आंदोलन में शामिल होना मेरे लिए एक सम्मान और सौभाग्य की बात है। यह हमारी सामूहिक जिम्मेदारी है कि हम प्रत्येक बच्चे को सुरक्षित व उसके पूर्ण जीवन जीने को सुनिश्चित करें।

'बाल तस्करी रोकना सबकी जिम्मेदारी'

कैलाश सत्याथी चिल्ड्रन फाउंडेशन की ओर से जारी बयान के अनुसार, हेली ने कहा कि मैं बाल तस्करी को समाप्त करने की हमारी प्रतिबद्धता को साझा करने की ओर अग्रसर हूं। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बाल सुरक्षा के मुद्दे पर सत्यार्थी ने भी दुनिया के दो सबसे बड़े लोकतंत्रों द्वारा सामूहिक जिम्मेदारी को अपने कंधों पर लेने की जरूरत पर जोर दिया।

और मजबूत हो भारत-अमरीका का रिश्ता: हेली

निक्की हेली ने इससे पहले हुमायूं के मकबरे का दीदार भी किया। यहां उन्होंने कहा कि मैं यहां एक बार फिर भारत के लिए हमारे प्यार को मजबूत करने आई हूं, भारत और अमरीका के बीच दोस्ती की हमारी पुरानी धारणा है और हमारी इच्छा उस संबंध को और अधिक मजबूत बनाने की है। हेली ने दोनों देशों के बीच अवसरों के कई स्तरों का उल्लेख किया और कहा कि भारत व अमेरिका स्वतंत्रता के मूल्य साझा करते हैं।

राजदूत नियुक्त होने के बाद पहला भारत दौरा
संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत नियुक्त होने के बाद हेली का यह पहला दौरा है। हेली अपने दौरे के दौरान भारत के वरिष्ठ अधिकारियों, एनजीओ व व्यापार जगत के दिग्गजों, विद्यार्थियों और अंतर धार्मिक समुदाय के सदस्यों से मुलाकात करेंगी।

Show More
Chandra Prakash
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned