निर्भया के दरिंदों को फांसी के लिए अनशन पर बैठी स्वाति मालीवाल की बिगड़ी तबीयत, 7 किलो वजन घटा

  • Nirbhaya Case स्वाति मालीवाल की बिगड़ी तबीयत
  • डॉक्टरों ने अनशन खत्म करने की दी सलाह
  • अनशन नहीं तोड़ा तो खराब हो जाएगी किडनी

नई दिल्ली। निर्भया के दोषियों को फांसी देने को लेकर पिछले 12 दिनों से अनशन पर बैठीं दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल को लेकर बड़ी खबर सामने आई है। मालीवाल की तबीयत बिगड़ गई है। बताया जा रहा है 12 दिन में उनका वजन 7 किलो कम हो गया है।

इतना ही नहीं डॉक्टरों ने उन्हें अनशन खत्म करने की सलाह दी है। आपको बता दें कि स्वाति मालीवाल दुष्कर्म मामलों में छह माह के भीतर फांसी की सजा सुनाए जाने सहित तमाम मांगों को लेकर राजघाट के नजदीक समता स्थल पर अनशन पर बैठी हैं।

मंत्रालयों के बंटवार के ठीक बाद उद्धव सरकार को बड़ा झटका, अध्यक्ष ने दिया इस्तीफा

97.jpg

सुबह के सन्नाटे में दी जाएगी निर्भया के दोषियों को फांसी, ये खास लोग रहेंगे मौजूद

किडनी हो सकती है खराब
निर्भया को इंसाफ के लिए अनशन पर बैठीं स्वाती मालीवाल की बिगड़ी तबीयत के बाद डॉक्टरों ने आगाह किया है कि वे अनशन खत्म नहीं करती हैं तो उनकी किडनी खराब हो सकती है।

आपको बता दें कि कुछ दिन पहले उन्होंने वीआईपी सुरक्षा हटाने की मांग को लेकर गृहमंत्री अमित शाह को पत्र लिखा था। पत्र में पुलिस बलों की कमी के कारण देश के वीआईपी लोगों को प्रदान की गई विशेष सुरक्षा को वापस लेने की अपील की गई थी।
साथ ही दिल्ली महिला आयोग सदस्यों की ओर से बैठक के लिए समय मांगा गया था।

नेता नहीं सुनते क्योंकि उनके परिवार सुरक्षित
मालीवाल ने ट्वीट कर कहा था, 'बंदूकधारी सुरक्षा के घेरों में रहने वाले वीआईपी नेताओं को बेटियों की चीख सुनाई नहीं देती, क्योंकि इनके परिवार सुरक्षित हैं।

अमित शाह को पत्र लिखकर सभी नेताओं की वीआईपी सुरक्षा हटाने की मांग की है। जब इनकी बेटियां सड़क पर अकेले चलेंगी और इन्हें डर लगेगा, तभी नींद से जागेंगे।

इससे पहले, दिल्ली के फिल्मिस्तान स्थित अनाज मंडी में हुए अग्निकांड में 43 लोगों की मौत पर संवेदना जताते हुए स्वाति मालीवाल ने कहा था, 'अनाज मंडी की आग में जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों के लिए प्रार्थना कर रही हूं।

Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned