परिवार के साथ तनाव की खबर बीच तेजप्रताप यादव को इस शख्स ने की मदद, घर भी दिलवाया

बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव का कहना है कि सियासत में वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नहीं बल्कि अपने पिता लालू प्रसाद यादव की नकल करते हैं।

पटना। जनता दल यूनाइटेड प्रमुख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव और उनके छोटे बेटे लगातार नीतीश कुमार और मोदी सरकार पर हमला बोलते रहते हैं, इस बीच लालू के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव के सुर नीतीश कुमार के खिलाफ नरम हुए हैं। बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव ने कहा कि नीतीश कुमार के साथ उनके व्यक्तिगत संबंध हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, तेजप्रताप यादव को घर दिलाने में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने साहयता की। तेजप्रताप ने अपने मकान के संबंध में नीतीश कुमार की मदद के बारे में पूछे जाने पर कहा कि उनके साथ मेरे व्यक्तिगत संबंध हैं और सब नेताओं से संबंध होता है। वह खुद भी विधानसभा के सदस्य हैं। सभी विधायकों को आवास मिलता है। उन्हें नहीं मिला था जो अब मिल गया है। बता दें कि इससे पहले मीडिया में खबर आई थी कि तेजप्रताप यादव ने अपने आवास के लिए सीएम नीतीश कुमार को फोन कर कहा था कि चाचा हमको घर नहीं मिलेगा?

बिहार में 'कुशासन': एक और व्यापारी की गोली मारकर हत्या, 7 दिन में 5 मर्डर से दहशत में लोग

तेजप्रताप और उनकी पत्नी के बीच तलाक की कार्यवाही चल रही हैं। जिससे उनके परिवार के सदस्यों के साथ उनके रिश्ते में तनाव की खबर है। मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि तेजप्रताप के पत्नी से तलाक लेने के फैसले से परिवार नाखुश है। वहीं तेजप्रताप यादव के बारे में कहा जा रहा है कि वह अपने मामा साधु यादव और सुभाष यादव के इशारे पर राजनीतिक गतिविधि बढ़ाए हैं। इस पर उन्होंने कहा कि वह ना मामा ना चाचा ना मौसा ना मौसी किसी का नहीं सुनते। वह केवल अपने गुरु की सुनते हैं। उन्होंने कहा कि मामा कोई पार्टी में हैं कि उनके कहने से पार्टी चलेगी।

महाराष्ट्: कोरेगांव-भीमा संग्राम की 210वीं बरसी की तैयारी शुरू, सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम
बता दें कि हाल ही में तेजप्रताप ने एक महिला फरियादी की शिकायत पर अपने समर्थकों के साथ पटना के फुलवारी थाने का घेराव किया था। एफआईआर लिखने को लेकर वह धरने पर बैठ गए थे। थाने के घेराव के समय मामा साधु यादव भी पहुंच गए। हालांकि उस दिन मीडिया के सामने साधु यादव ने कहा कि वे किसी के बुलावे पर नहीं आए हैं, बल्कि अपने मन से आए हैं।

Show More
Saif Ur Rehman
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned