scriptNizamuddin Markaz case:Passports of five close associates of Maulana Saad confiscated | Nizamuddin Markaz Case: निजामुद्दीन मरकज मामले में मौलाना साद के पांच करीबियों के पासपोर्ट जब्त | Patrika News

Nizamuddin Markaz Case: निजामुद्दीन मरकज मामले में मौलाना साद के पांच करीबियों के पासपोर्ट जब्त

Highlights

  • जांच पूरी होने तक देश से बाहर नहीं जा सकेंगे आरोपी
  • मौलाना साद के 11 करीबियों के दस्तावेजों की जांच
  • दिल्ली के क्वारंटाइन सेंटरों में रखे गए हैं विदेशी जमाती

नई दिल्ली

Updated: May 25, 2020 11:16:16 am

निजामुद्दीन मरकज मामले (Nizamuddin Markaz Case) में आरोपी मौलाना साद अभी तक पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ा है। पुलिस की चेतावनियों के बाद भी वे अभी तक सामने नहीं आया है। कोरोना (Coronavirus) को लेकर बरती गई बड़ी लापरवाही के आरोप में तबलीगी जमात (Tablighi Jamaat) प्रमुख मौलाना साद के खिलाफ दर्ज मामले की जांच में क्राइम ब्रांच (crime branch) अब एक कदम और आगे बढ़ी है। क्राइम ब्रांच की ओर से मरकज की मैनेजमेंट से जुड़े साद के करीबी पांच अन्य आरोपियों के पासपोर्ट समेत कुछ अन्य दस्तावेज कब्जे में लिए हैं।
maulana.jpg
देश से बारह नहीं जा सकेगा कोई भी आरोपी

ये पांचों आरोपी मरकज की महत्वपूर्ण युनिटों की कमान संभालते थे। इन्हें मौलाना के बेहद करीबी माना जाता है। मौलाना साद मरकज से जुड़े जो भी बड़े फैसले लेते थे, वो सब इन लोगों की जानकारी में होते थे। इस कार्रवाई के बाद जब तक जांच प्रक्रिया पूरी नहीं हो जाती, कोई भी आरोपी देश से बाहर नहीं जा सकेगा। बता दें, दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की जांच टीम मौलाना साद के घर और फार्म हाउस पर भी छापेमारी कर चुकी है।
कोर टीम के लोगों की बारीकी से जांच

मौलाना साद ने आरोपियों को अपनी कोर टीम में शामिल कर रखा था। कोई भी बड़ा फैसला लेने पर वे इन लोगों से सलाह जरूर लेते थे। मौलाना के तीन बेटे और एक भांजे समेत चार लोग जमात से जुड़ी आर्थिक व्यवस्थाओं को देखते थे। इन चार लोगों समेत जांच टीम कुल 11 लोगों से बारीकी से पूछताछ कर रही है। साद का बीच वाला बेटा मरकज की गतिविधियों में ज्यादा सक्रिय रहता है।
विदेशी जमातियों से भी पूछताछ

जांच टीम ने विदेश से आए जमातियों को भी जांच के घेरे में लिया है। उनसे भी पूछताछ की जा रही है। क्वारंटाइन में रखे गए विदेशी जमातियों के बयान दर्ज किए जा रहे हैं। नोटिस देकर उनके पासपोर्ट और वीजा सहित अन्य दस्तावेजों की जांच की जा रही है। बता दें, विदेशों से आए 916 जमातियों को दिल्ली के अलग-अलग क्वारंटाइन सेंटरों में रखा गया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

IPL 2022: टिम डेविड की तूफानी पारी, मुंबई ने दिल्ली को 5 विकेट से हराया, RCB प्लेऑफ मेंपेट्रोल-डीज़ल होगा सस्ता, गैस सिलेंडर पर भी मिलेगी सब्सिडी, केंद्र सरकार ने किया बड़ा ऐलान'हमारे लिए हमेशा लोग पहले होते हैं', पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कटौती पर पीएम मोदीArchery World Cup: भारतीय कंपाउंड टीम ने जीता गोल्ड मेडल, फ्रांस को हरा लगातार दूसरी बार बने चैम्पियनआय से अधिक संपत्ति मामले में ओम प्रकाश चौटाला दोषी करार, 26 मई को सजा पर होगी बहसऑस्ट्रेलिया के चुनावों में प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन हारे, एंथनी अल्बनीज होंगे नए PM, जानें कौन हैं येगुजरात में BJP को बड़ा झटका, कांग्रेस व आदिवासियों के लगातार विरोध के बाद पार-तापी नर्मदा रिवर लिंक प्रोजेक्ट रद्दजापान में होगा तीसरा क्वाड समिट, 23-24 मई को PM मोदी का जापान दौरा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.