कारगिल विजय दिवस से पहले खुफिया मिशन पर कश्मीर पहुंचे NSA अजीत डोभाल

कारगिल विजय दिवस से पहले खुफिया मिशन पर कश्मीर पहुंचे NSA अजीत डोभाल

  • Ajit Doval Visit Jammu Kashmir
  • बुधवार को घाटी पहुंचे थे अजीत डोभाल
  • कई उच्चाधिकारियों के साथ NSA ने की बैठक

नई दिल्ली। देशभर में आज कारगिल विजय दिवस मनाया जा रहा है। लेकिन, उससे ठीक पहले खुफिया मिशन पर NSA अजीत डोभाल जम्मू-कश्मीर पहुंचे हैं।

इस दौरान अजीत डोभाल सेना के अलग-अलग अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे हैं। हालांकि, यह खुलासा नहीं हो सका है कि डोभाल किस सीक्रेट मिशन के तहत घाटी पहुंचे हैं।

 

file photo

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अजीत डोभाल बिना जानकारी के बुधवार को कश्मीर ? पहुंचे थे। डोभाल के इस दौरे को सीक्रेट रखा गया था।

जम्मू-कश्मीर दौरे के दौरान डोभाल ने कई अधिकारियों के साथ बैठक की और घाटी में सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। इस दौरान डोभाल ने बाबा बर्फानी के दर्शन भी किए।

बताया जा रहा है कि अजीत डोभाल ने राज्यपाल के सलाहकार के विजय कुमार, डीजीपी दिलबाग सिंह, मुख्य सचिव बीवीआर सुब्रह्मण्यम, आईजी एसपी पाणि से भी मुलाकात की। अपने कश्मीर दौरे के दौरान एनएसए ने आईबी के आलाधिकारियों से भी मुलाकात की।

 

ajit dov

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो अजीत डोभाल ने इन बैठकों में राज्य के मौजूदा राजनीतिक और सुरक्षा परिदृश्य से लेकर राज्य के विकास से जुड़े मुद्दों और शांति बहाली के उपायों पर विचार-विमर्श किया।

डोभाल के कश्मीर में पहुंचने के बाद अनुच्छेद 370 व 35ए को हटाने को लेकर अटकलें तेज हो गई हैं।

खबर है कि डोभाल इसी मकसद से घाटी पहुंचे थे, जिससे कि वह वहां की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा ले सकें। गौरतलब है कि मोदी सरकार घाटी से धारा-370 को लेकर लगातार पहल कर रही है।

वहीं, कयास यह भी लगाया जा रहा है कि अनुच्छेद 35A पर अगले माह केंद्र सरकार कोई बड़ा फैसला ले सकती हैै। ऐसे में डोभाल का घाटी दौरा बेहद अहम माना जा रहा है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned