बहू के साथ किया सास ने कुछ ऐसा काम जिससे विदेशों में भी हो रही है वाहवाही

बहू के साथ किया सास ने कुछ ऐसा काम जिससे विदेशों में भी हो रही है वाहवाही

Ravi Gupta | Updated: 16 Nov 2017, 10:51:19 AM (IST) इंडिया की अन्‍य खबरें

पुरानी कहावत है कि जिनके इरादे पक्के हों और जिन्हें अपनी काबिलियत पर भरोसा हो, उन्हें दुनिया की कोई ताकत नहीं रोक सकती।

नागौर। पुरानी कहावत है कि जिनके इरादे पक्के हों और जिन्हें अपनी काबिलियत पर भरोसा हो, उन्हें दुनिया की कोई ताकत नहीं रोक सकती। लेकिन जब ऐसा किस्सा किसी महिला के साथ हो तो कहानी में मज़ा कई गुना बढ़ जाता है। राजस्थान की 68 साल की लक्ष्मी और उनकी बहू अनुराधा ने दुनिया को वो कर दिखाया जो अच्छे-अच्छे भी करने में फेल हो जाते है। लक्ष्मी और अनुराधा के हुनर का आज न सिर्फ पूरा देश दीवाना है बल्कि पूरा संसार भी इन दोनों सास-बहू के हुनर के लिए क्रेजी हो पड़ा है।

लक्ष्मी और अनुराधा आज के वक़्त में न सिर्फ महिलाओं के लिए बल्कि उन सभी लोगों के लिए एक मिसाल बन गयी हैं, जो इस ज़माने में अपनी ज़िन्दगी को बोझ समझ कर बड़ी ही आसानी से हार मान लेते हैं। दरअसल, लक्ष्मी के घर की आर्थिक स्थिति काफी ख़राब थी। ऐसे में लक्ष्मी का बेटा और अनुराधा का पति वीरेंदर भी उन्हें बदहाल हालत में छोड़ कर दुनिया को अलविदा कह दिया। वीरेंदर के अलावा लक्ष्मी का एक और बेटा है, इसके साथ ही उनकी चार बेटियां भी है। बेटे कि मौत के बाद सभी के पेट पर मानो कुदरत ने ज़ोर की लात मार दी हो। ये लक्ष्मी और अनुराधा के लिए ऐसा समय था जब दोनों के ऊपर मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा था। लेकिन अपने चट्टान जैसे इरादों को लिए दोनों सास-बहू इतनी आसानी से कहां हार मानने वाली थी।

लक्ष्मी ने ईश्वर के दिए हुनर को काम पर लगा दिया। अपने हाथों की जादूगरी के दम पर उन्होंने महज़ 125 रुपए में हस्तनिर्मित घरेलू खाद्य उत्पाद मसाला सामग्री का बिज़नेस शुरू कर दिया। बस फिर क्या था, लक्ष्मी कि लगन और मेहनत को ऊपर से ईश्वर ने भी सलाम ठोक दिया। फिर वही हुआ जिसकी किसी को उम्मीद नहीं थी। लक्ष्मी ने साल 2000 में मेलों में अपने हाथ के जादू का प्रसार करना शुरू किया जो धीरे-धीरे पूरे राजस्थान में फेमस हो गई। इतना ही नहीं लक्ष्मी ने अपनी विधवा बहू को भी इस कारोबार के ज़रिये ही आगे बढ़ा रही है।

जब सब कुछ अपनी रफ्तार से चलने लगा तो दोनों ने आज के ज़माने का वो ज़रिया अपनाया जिससे वे अपने बिज़नेस को और भी आगे बढ़ा सकें। कहने का मतलब ये है कि दोनों ने अपने काम को सोशल मीडिया की मदद से इसे इंटरनेशनल मार्केट तक पहुंचा दिया। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर रिश्तेदारों के माध्यम से लक्ष्मी और अनुराधा ने अपने इस बिज़नेस को अब दुबई से लेकर मस्कट तक फैला दिया है। लक्ष्मी का घरेलू खाद्य माल अब 'अनु कलेक्शन' के नाम से दो अलग-अलग वॉट्सऐप ग्रुप के माध्यम से ऑर्डर पर पार्सल हो रहा है। लक्ष्मी और अनुराधा का बिज़नेस अब सातवें आसमान की ओर बढ़ रहा है। जिसके पीछे दोनों के मज़बूत इरादे हैं। जिसे दोनों ने अपने सबसे बुरे वक्त में भी नहीं छोड़ा।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned