किसान आंदोलन को लेकर अमित शाह के आवास पर आपात बैठक, गृहसचिव समेत कई अफसर मौजूद

  • दिल्ली की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर गृह मंत्री अमित शाह के आवास पर हो रही आपात बैठक
  • बैठक में गृहसचिव और दिल्ली पुलिस कमिश्नर समेत कई अफसर मौजूद

नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों के विरोध में आज किसान ट्रैक्टर मार्च (Kisan Tractor March) निकाल रहे हैं। लेकिन किसानों के ट्रैक्टर परेड ने हिंसा का रूप ले लिया है। ITO पर हंगामों के बाद कई किसान लाल किले पर पहुंच गए । किसान रैली को हिंसा में बदलते देख गृह मंत्री अमित शाह के आवास पर इस वक्त आपातकालीन बैठक चल रही है।

Tractor rally: हिंसा के बाद दिल्ली के इन इलाकों में बंद हुआ इंटरनेट, रात 12 बजे तक बंद रहेगी सेवा

सूत्रों के मुताबिक इस बैठक में दिल्ली की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर मंथन चल रहा है। बैठक में गृहसचिव और दिल्ली पुलिस कमिश्नर समेत कई अफसर मौजूद हैं। मिली जानकारी के अनुसार हिंसा को रोकने के लिए केंद्रीय गृहमंत्रालय ने दिल्ली के कई इलाकों में इंटरनेट को रात 12 बजे तक के लिए बंद कर दिया है।

 

बता दें ये हिंसा उस वक्त फैली जब किसानों को तय रूट को छोड़ कई जगहों पर बैरिकेड्स तोड़ दिए और दिल्ली के अंदर घुस गए।इसकी वजह से पुलिस और किसानों के बीच झड़प हुई और देखते ही देखते हिंसा पूरे दिल्ली में फैल गई।

Tractor rally: ITO पर हुए हंगामे में एक शख्स की मौत, किसानों ने कहा- ‘पुलिस फायरिंग में गई जान’

हिंसा को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने इंडिया गेट को जोड़ने वाले सभी मार्गों को बंद कर दिया गया है। सभी मार्गों पर डीटीसी की बसें खड़ी कर दी गई हैं। ताकी कोई इधर गाड़ी लेकर ना आ सके। इसके अलावा दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (DMRC) ने हिंसा के चलते सुरक्षा को देखते हुए दिल्ली में कई मेट्रो स्टेशन को बंद किया हुआ है।

इसके अलावा व ITO पर एक शख्स की मौत की खबर आ रही है। मिली जानकारी के अनुसार ITO पर हंगामें के दौरान उत्तराखंड निवासी नवनीत नाम के शख्स की मौत हो गई ।किसान नेताओं ने दावा है कि ITO पर पुलिस की फायरिंग के दौरान शख्स की मौत हो गई है। हालांकि अभी तक पुलिस की इस मामले पर कोई टिप्पणी नहीं आई है।

Vivhav Shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned