नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा पाकिस्तान, 2019 में ज्यादा बढ़े संघर्ष विराम उल्लंघन के मामले

  • इस वर्ष अब तक 40 फीसदी ज्यादा मामले देखे गए।
  • सुरक्षा बलों के अभियान में अब तक 147 आतंकी ढेर।
  • पुलवामा हमले में 40 सीआरपीएफ जवान हुए थे शहीद।

नई दिल्ली। पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज आता नजर नहीं आ रहा। आलम यह है कि पिछले साल की तुलना में पाकिस्तान ने अब तक ज्यादा बार सीजफायर का उल्लंघन किया है। इस वर्ष इन घटनाओं में काफी बढ़ोतरी देखी गई।

बड़ी खबरः इसरो चीफ के सामने इस दिग्गज का खुलासा, विक्रम से संपर्क करने में यह सिस्टम बना परेशानी

भारतीय सेना के सूत्रों के मुताबिक, "10 अक्टूबर 2019 तक पाकिस्तान ने 2317 बार सीजफायर का उल्लंघन किया है। जबकि इस दौरान नियंत्रण रेखा और अंदरूनी इलाकों में सुरक्षा बलों की तमाम अलग-अलग कार्रवाई में 147 आतंकवादियों को ढेर कर दिया गया है।"

गौरलतब है कि पिछले वर्ष 2018 में पाकिस्तान द्वारा पूरे साल में 1629 बार संघर्ष विराम का उल्लंघन किया गया था।

चंद्रयान-2: ऑर्बिटर ने किया एक और कमाल, हर सैटेलाइट को पीछे कर हासिल की सबसे बड़ी सफलता...

इसरो का विक्रम से टूटा संपर्क, चंद्रमा पर चीन के लैंडर में उगा कपास का पौधा

जबकि बीते साल सुरक्षा बलों द्वारा चलाए गए तमाम अभियान और कड़ी कार्रवाई में 254 आतंकियों को ठोक डाला गया था। इन आतंकियों में तमाम स्थानीय और विदेशी आतंकी कमांडर भी शामिल थे।

बता दें कि पाकिस्तान द्वारा संघर्षविराम का उल्लंघन करने के मामलों में उस वर्ष इजाफा हुआ है, जब देश में लोकसभा चुनाव और इसके बाद जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को रद्द कर दिया गया।

चंद्रयान-2: विक्रम लैंडर मामले को लेकर इसरो चीफ के सिवन ने दिया जवाब

इसी वर्ष 14 फरवरी को आतंकियों ने जम्मू के पुलवामा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस फोर्स (सीआरपीएफ) के काफिले को निशाना बनाकर आतंकी हमला किया था, जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे।

इस हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में बीते 26 फरवरी को जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों को निशाना बनाते हुए एयरस्ट्राइक की थी।

देखें, भारतीय वायुसेना ने जारी किया बालाकोट एयर स्ट्राइक का वीडियो

Show More
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned