बड़े रेलवे स्टेशनों से ट्रेन पकड़ना पड़ सकता है महंगा, चुकानी होगी ज्यादा स्टेशन यूजर फीस

  • Stations Redevelopment Under PPP : पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप (PPP) के तहत कई रेलवे स्टेशनों के रिडेवलपमेंट पर होगा काम
  • इन स्टेशनों पर आधुनिक सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी, यूजर चार्ज बाजार के हिसाब से तय होंगे

By: Soma Roy

Published: 24 Aug 2020, 08:16 PM IST

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे (Indian Railways) व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए लगातार कई तरह के बदलाव कर रहा है। इसके प्राइवेटाइजेशन की भी बात पहले सामने आई थी। इसी क्रम में एक नई जानकारी हासिल हुई है। इसके तहत अब चुनिंदा स्टेशनों (Railway Stations) से ट्रेन पकड़ना यात्रियों के लिए महंगा साबित हो सकता है। क्योंकि पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप (PPP) के तहत कई रेलवे स्टेशनों के रिडेवलपमेंट पर काम किया जा रहा है। ऐसे में पैसेंजर्स को स्टेशन यूजर फीस ज्यादा चुकानी होगी। जिससे टिकट के रेट बढ़ जाएंगे।

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक रेलवे इसे यूजर डेवलपमेंट फीस (UDF) के तौर पर लेगा। यह उन रेलवे स्टेशनों (Railway Station) के लिए होगा, जिन्हें प्राइवेट कंपनियों की ओर से दोबारा से संवारा जाएगा। जो रेलवे स्टेशन रिडेवलपमेंट प्रोजेक्ट (Redevlopment Projects) का हिस्सा होंगे, इन सभी स्टेशनों पर कई तरह की आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। ये प्राइवेट कंपनियां ही इन स्टेशनों को कॉमर्शियल ऑपरेशन करेंगी। स्टेशनों को डेवलप करने के बदले में कंपनियों को यहां पर कॉमर्शियल कॉम्प्लेक्स खोलने और स्टेशन यूजर फीस वसूलने की अनुमति दी जाएगी। अभी सरकार ने मुंबई सीएसटी स्टेशन के लिए पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप अप्रेजल कमेटी (PPPAC) की बिडिंग शुरू की थी। 20 अगस्त को IRSCDC ने इस स्टेशन के रिडेवलपमेंट के लिए पीपीपी मॉडल के तहत रिक्वेस्ट फॉर क्वॉलिफिकेशन मांगा है।

बाजार के अनुसार तय होंगे चार्ज
इंडियन रेलवे स्टेशन डेवलपमेंट कॉरपोरेशन (IRSDC) के मुताबिक प्राइवेट सेक्टर की ओर से विकसित स्टेशनों पर पैसेंजर यूजर चार्ज बाजार के हिसाब से तय होंगे। क्योंकि खर्च के बढ़ने और घटने की संभावना लगातार बनी रहेगी। ऐसे में अगर किसी स्टेशन को 60 साल के लिए दिया जाता है तो ये चार्जेज बाजार के हिसाब से ही तय होंगे। मालूम हो कि इसके पहले यह कहा जा रहा था कि जो कंपनियां रेलवे स्टेशनों का डेवलपमेंट करेंगी, वो एयरपोर्ट फीस की तरह चार्ज वसूल सकेंगी। हालांकि बात में इस दावे को खारिज कर दिया गया।

इन स्टेशनों के विकास की संभावना
रेलवे के रिडेवलपमेंट प्रोजेक्ट के तहत मुंबई, जयपुर, हबीबगंज, चंडीगढ़, नागपुर, बिजवासन और आनंद विहार रेलवे स्टेशन को विकसित करने की योजना है। रेल मंत्रालय (Ministry of Railway ) ने इन स्टेशनों के लिए खास प्लान भी तैयार किया है। प्राइवेट प्लेयर्स को बिडिंग के जरिए चुना जाएगा। इसके बाद स्टेशनों पर आधुनिक सुविधाएं दी जाएंगी।

Show More
Soma Roy
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned