PM Modi आज ले सकते हैं कई बड़े फैसले, दे सकते हैं Coronavirus को चुनौती

Highlights

- PM Modi आज गुरुवार को आठ बजे लोगों को संबोधित करेंगे

- इसमें वे कोरोना वायरस (Coronavirus) रोकने के उपायों के बारे में बताएंगे

- इसकी जानकारी प्रधानमंत्री कार्यालय ने बुधवार को ट्वीट करते हुए दी

 

नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते प्रकोप से बचने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) हर रोज सतर्कता बरतने की बात कहते रहते हैं। कोरोना वायरस (Coronavirus Outbreak) को लेकर लोगों में डर के माहौल को कम करने के लिए आज गुरुवार को आठ बजे लोगों को संबोधित करेंगे। इसमें वे संक्रमण रोकने के उपायों के बारे में बताएंगे। इसकी जानकारी प्रधानमंत्री कार्यालय ने बुधवार को ट्वीट करते हुए दी। कयास लगाए जा रहे हैं कि प्रधानमंत्री कुछ बड़ा ऐलान करेंगे और लोगों से घरों में रहने की अपील करेंगे। आइए जानते हैं कि प्रधानमंत्री अपने इस संबोधिन में किया घोषणाएं कर सकते हैं...


क्या हो सकता है भारत लॉकडाउन (Coronavirus lockdown in India) ?

माना जा रहा है कि अगर प्रधानमंत्री खुद लॉकडाउन (Lockdown in india) का ऐलान करते हैं और लोगों से सावधान रहने की अपील करते हैं, तो उनकी बात एक बड़े तबके तक पहुंचेगी और लोग इस कोरोना वायरस के खतरे को लेकर गंभीर हो सकेंगे। इसके अलावा इस महामारी को देखते हुए नेशनल इमरजेंसी या हेल्थ इमरजेंसी जैसी स्थिति का भी उपयोग किया जा सकता है।

क्या अमेरिका जैसा लें सकते हैं बड़ा फौसला ( May take big decisions like America) ?

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने कोरोना वायरस की स्थिति को नेशनल इमरजेंसी घोषित कर दिया था, साथ ही लोगों से बाहर ना निकलने-एक स्थान पर 10 से अधिक लोग इकट्ठे ना होने की अपील की थी। इतना ही नहीं अमेरिका ने अपने बॉर्डरों को सील किया, यूरोप से आने वाले लोगों (ब्रिटेन छोड़कर) पर प्रतिबंध लगा दिया। ऐसे में क्या कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए माना जा रहा है कि क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी कोई फैसला ले सकते हैं।


कौन-कौन सी इंडस्ट्री सेक्टर पर पड़ेगा कोरोना वायरस का असर (Coronavirus Impact on Industries)?

कोरोना वायरस (Covid-19) के चलते भारत सहित दुनिया के कई देशों की इकोनॉमी पर गंभीर असर पड़ रहा है। भारत के कई उद्योगों में कच्चे माल की समस्या हो गई है तो कई में निर्यात रुक जाने का खतरा दिख रहा है। एक स्टडी के मुताबिक दुनिया की करीब 51,000 कंपनियां चीन के कोरोना प्रभावित इलाके से आपूर्ति पर निर्भर हैं। भारत-चीन के बीच करीब 87 अरब डॉलर का व्यापार होता है जिसमें से 70 अरब डॉलर का माल भारत आयात करता है। सूरत की डायमंड इंडस्ट्री, बनारसी साड़ी इंडस्ट्री जैसे कई घरेलू उद्योग चीन के कच्चे माल पर निर्भर हैं। चीन के कई शहरों में फैक्ट्रियां कोरोना, चीनी नव वर्ष की वजह से बंद हैं और अभी इनके खुलने की संभावना भी कम ही दिख रही है।

क्या बंद हो सकते है भारत में Public Transport?

ऐसा भी माना जा रहा है कि पीएम मोदी (PM Modi) जनता से पब्लिक ट्रांसपोर्ट का इस्तेमाल न करने की अपील कर सकते हैं। बता दें कि कोरोना वायरस से बचाव को लेकर पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम को सेनेटाइज किया जा रहा है।

Corona virus Corona Virus Precautions Corona Virus treatment
Show More
Ruchi Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned