साल की अंतिम 'मन की बात': पीएम मोदी बोले- '2018 में भारत जल, थल और नभ के क्षेत्र में परमाणु शक्ति संपन्न हुआ'

पीएम मोदी का रेडियो कार्यक्रम 51वां संस्करण है। पीएम मोदी के मन की बात कार्यक्रम साल का अंतिम कार्यक्रम है।

नई दिल्ली। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर से अपने रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' के जरिये देशवासियों को संबोधित किया। यह उनके इस रेडियो कार्यक्रम का 51वां संस्‍करण रहा और मन की बात कार्यक्रम का इस साल का अंतिम संस्‍करण भी। पीएम मोदी ने अपने मन की बात कार्यक्रम में कहा कि 2018 गौरवपूर्ण रहा। पीएम मोदी ने कहा कि 2018 को भारत एक देश के रूप में अपनी एक सौ तीस करोड़ की जनता के सामर्थ्य के रूप में कैसे याद रखेगा - यह याद करना भी महत्वपूर्ण है। हम सब को गौरव से भर देने वाला है। 2018 में भारत जल, थल और नभ के क्षेत्र में परमाणु शक्ति संपन्न हुआ।

गौरवपूर्ण रहा साल 2018

- यह साल हम सब को गौरव से भरने देने वाला रहा। 2018 में विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना आयुष्मान भारत की शुरुआत हुई। देश के हर गांव तक बिजली पहुंच गई। गणमान्य संस्थाओँ ने माना कि भारत रिकॉर्ड गति के साथ देश को गरीब से मुक्ति दिला रहा। देशवासियों के अडिग संकल्प से स्वच्छता कवरेज बढ़कर 95% को पार करने की दिशा में आगे बढ़ रहा है। आजादी के बाद लाल-किले से पहली बार, आज़ाद हिन्द सरकार की 75वीं वर्षगांठ पर तिरंगा फहराया गया। देश को एकता के सूत्र में पिरोने वाले सरदार वल्लभ भाई पटेल के सम्मान में विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा 'स्टेचू ऑफ यूनिटी' देश को मिली। दुनिया में देश का नाम ऊंचा हुआ। देश को
संयुक्त राष्ट्र का सर्वोच्च पर्यावरण पुरस्कार मिला चैंपियंस ऑफ द अर्थ अवॉर्ड सम्मानित किया गया। सौर ऊर्जा और क्लाइमेंट चेंज में भारत के प्रयासों को विश्व में स्थान मिला। इंटरनेशनल सोलर एलाइंस हुआ। हमारे सामूहिक प्रयासों को नतीजा है कि नतीजा है कि देश के सेल्फ डिफेंस को नई मजबूती मिली। इसी वर्ष हमारे देश सफलतापूर्वक न्यूक्लियर ट्रायल को पूरा किया यानि अब हम जल, थल और नभ तीनों में परमाणु शक्ति संपन्न हो गए है। पीएम मोदी ने खेलों में भारतीय खिलाड़ियों के शानदार प्रदर्शन की भी तारीफ की ।

अन्य अहम बातें

- इस साल देश ने जिन असाधारण शख्सियतों को खो दिया उन्हें भी याद किया। पीएम मोदी ने कहा कि इस दिसम्बर में हमने कुछ असाधारण देशवासियों को खो दिया। 19 दिसम्बर को चेन्नई के डॉ जयाचंद्रन का निधन हो गया। उनको प्यार से लोग ‘मक्कल मारुथुवर’ कहते थे क्योंकि वे जनता के दिल में बसे थे। डॉ जयाचंद्रन ग़रीबों को सस्ते-से-सस्ता इलाज उपलब्ध कराने के लिए जाने जाते थे। सुलगिट्टी निरसम्हा को भी याद किया।
- बिजनौर के हार्ट लंग क्रिटिकल सेंटर की तरफ से हर महीने लगाए जाने वाले कैंप का जिक्र भी किया। इस कैंप में सैकड़ों गरीब मरीज लाभान्वित हो रहे हैं।
- स्वच्छ भारत मिशन के सफल बनाने की जानकारी दी।
- पीएम मोदी ने कश्मीर की बेटी हनाया निसार और मुक्केबाज रजनी की तारीफ की।
- जनवरी में कई सारे त्योहार आने वाले हैं, आने वाले त्योहार को जमकर सेलिब्रेट करें और इन तस्वीरों को शेयर भी करें जिससे दुनिया को भारत की विविधता में एकता का दर्शन हो सके
- कुंभ मेले में आस्था और श्रद्धा का जन-सागर उमड़ता है। एक साथ एक जगह पर देश-विदेश के लाखों करोड़ों लोग जुड़ते हैं। कुंभ की परम्परा हमारी महान सांस्कृतिक विरासत से पुष्पित और पल्लवित हुई है।
- कुंभ की दिव्यता से भारत की भव्यता पूरी दुनिया में अपना रंग बिखेरेगी। मेरा आप सब से आग्रह है कि जब आप कुंभ जाएं तो कुंभ के अलग-अलग पहलू और तस्वीरें सोशल मीडिया पर अवश्य शेयर करें ताकि अधिक-से-अधिक लोगों को कुंभ में जाने की प्रेरणा मिले।
- नेल्सन मंडेला जिन्होंने नस्लभेद के खिलाफ बड़ी लड़ाई लड़ी, उनके प्रेरणास्रोत पूज्य महात्मा गांधी ही तो थेः।
- साउथ अफ्रीका के राष्ट्रपति इस बार गणतंत्र दिवस के मुख्य अतिथि होंगे। साउथ अफ्रीका से भारत का पुराना नाता है। यहीं आकर मोहन दास करमचंद गांधी महात्मा बने।

Show More
Saif Ur Rehman
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned