आपदा से आत्मनिर्भरता की ओर, जानिए 'यूपी आत्मनिर्भर अभियान' को लॉन्च करते हुए PM मोदी ने क्या कहा?

  • PM Narendra Modi ने यूपी में लॉन्च किया 'आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान ( Atma Nirbhar Uttar Pradesh Rojgar Abhiyan )
  • इस योजना के तहत प्रवासी श्रमिकों ( Migrant Labourers ) को मिलेगा रोजगार

नई दिल्ली। पूरा देश इन दिनों कोरोना वायरस संकट से जूझ रहा है। इस महामारी के कारण देश को लॉकडाउन किया गया। लॉकडाउन के कारण काफी संख्या में प्रवासी श्रमिक पलयान किए। उत्तर प्रदेश में भी तीस लाख प्रवासी मजदूर लौटे हैं। वापस लौटे मजदूरों को उत्तर सरकार यहीं पर काम दे रही है। इसी कड़ी में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज यूपी सरकार के 'आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान ( Atma Nirbhar Uttar Pradesh Rojgar Abhiyan ) को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए लॉन्च किया।

- अभियान को लॉन्च करने के बाद पीएम ने लोगों से संवाद की। बहराइच के तिलकराम से बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आपके पीछे बड़ा मकान बन रहा है। इस पर तिलकराम ने कहा कि ये आप का ही देन है। आवास योजना के तहत हमें फैदा मिला है। इस पर पीएम ने उनसे पूछा कि आपको मकान मिला, लेकिन मुझे क्या देंगे। तिलकराम ने कहा कि आप पूरी जिंदगी PM रहें। प्रधानमंत्री ने कहा कि आप हर साल मुझे चिट्ठी लिखें और बच्चों की पढ़ाई के बारे में बताएं।

- प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत को आत्मनिर्भरता के रास्ते पर तेज़ गति से ले जाने का अभियान हो या फिर गरीब कल्याण रोजगार अभियान हो, उत्तर प्रदेश यहां भी बहुत आगे चल रहा है। गरीब कल्याण रोज़गार अभियान के तहत श्रमिकों को आयके साधन बढ़ाने के लिए गांवों में अनेक कार्य शुरू करवाए जा रहे हैं।

- पीएम मोदी ने कहा कि जिनके पास राशन कार्ड नहीं था, उनके लिए भी यूपी सरकार ने सरकारी राशन की दुकान के दरवाजे खोल दिए। इतना ही नहीं, उत्तर प्रदेश की सवा तीन करोड़ गरीब महिलाओं के जनधन खाते में लगभग 5 हजार करोड़ रुपए भी सीधे ट्रांसफर किए गए।

- प्रधानमंत्री ने कहा कि यूपी में 2017 से पहले जिस तरह का शासन चल रहा था, जिस तरह की सरकारें चला करती थीं, उस हालात में, हम इन नतीजों की कल्पना भी नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि पहले वाली सरकारें होतीं, तो अस्पतालों की संख्या का बहाना बनाकर, बिस्तरों की संख्या का बहाना बनाकर, इस चुनौती को टाल देती।

- आज उत्तर प्रदेश के लोगों का जीवन बच रहा है, सुरक्षित हो रहा है। ये सब उस स्थिति में हुआ जब देशभर से करीब 30 लाख से अधिक श्रमिक साथी, कामगार साथी, यूपी में पिछले कुछ हफ्तों में अपने गांव लौटे थे: पीएम

- एक वो भी दिन था जब प्रयागराज के सांसद देश के प्रधानमंत्री थे और कुंभ के मेले में भगदड़ मची थी, सैकड़ों-हजारों लोग मारे गए थे। तब उस समय जो लोग सरकार में थे, उन्होंने सारा जोर मरने वालों की संख्या छिपाने में ही लगा दिया था: पीएम

- जो मेहनत यूपी की सरकार ने की है, हम कह सकते हैं कि एक प्रकार से अब तक कम से कम 85 हजार लोगों का जीवन बचाने में वो कामयाब हुई है! आज अगर हम अपने नागरिकों का जीवन बचा पा रहे हैं, तो ये भी बहुत संतोष की बात है: पीएम

- यूरोप के 4 बड़े देश इंग्लैंड, फ्रांस, इटली, स्पेन 200—250 साल तक दुनिया में सुपर पावर रहे। आज भी इन देशों का दबदबा है। लेकिन कोरोना में इन चारों देशों में मिलाकर 1.3 लाख लोगों की मृत्यु हुई। जबकि उतनी ही जनसंख्या वाले उत्तर प्रदेश में 600 लोगों की जान गई। इन चारों देशों की जनसंख्या करीब 24 करोड़ है। यूपी की जनसंख्या भी करीब इतनी ही है। उन्होंने कहा कि इस उपलब्धि को यूपी के लोग खुद महसूस कर रहे हैं, लेकिन आप अगर आंकड़े जानेंगे तो और भी हैरान हो जायेंगे।

- पीएम मोदी ने कहा कि आगे भी किसी को नहीं पता कि इस बीमारी से कब मुक्ति मिलेगी। इसकी एक दवाई हमें पता है। ये दवाई है दो गज की दूरी। ये दवाई है- मुंह ढकना, फेसकवर या गमछे का इस्तेमाल करना। जब तक कोरोना की वैक्सीन नहीं बनती, हम इसी दवा से इसे रोक पाएंगे।

- इस अवसर पर प्रधानमंत्री के कर कमलों से 4 लाख 3 हजार सूक्ष्‍म, लघु, मध्यम उद्यम से जुड़ी हुई यूनिटों को 10 हजार 600 करोड़ रुपए से अधिक का ऋण का वितरण भी ऑनलाइन यहां प्रारंभ हो रहा है: योगी आदित्यनाथ

- योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इस योजना के तहत 1 करोड़ 25 लाख से अधिक कामगारों और श्रमिकों को रोजगार, उद्योगों में समायोजन और स्वत: रोजगार के तहत कार्य दिया जा रहा है।

- कोरोना संकट के साथ ही प्रधानमंत्री ने 'जान भी और जहान भी' का मंत्र दिया और उसके बाद कामगारों व श्रमिकों के लिए योजनाओं को आगे बढ़ाने के लिए मार्गदर्शन दिया: यूपी CM

- कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोरोना काल में पीएम मोदी ने देश को मंत्र दिया। अब रोजगार को बढ़ावा दिया जा रहा है।

- योगी आदित्यनाथ ने कहा कि लॉकडाउन में जितने प्रवासी श्रमिक वापस आए हैं, उन सब की स्किल मापा गया है। जिससे इन्हें काम देने में आसानी होगी। हालांकि, योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इनमें 18 वर्ष से ऊपर के लोगों को शामिल किया गया है।

- योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश और रोजगार कार्यक्रम के लिए आज आदरणीय प्रधानमंत्री का मार्गदर्शन हमें प्राप्त हो रहा है।

- यूपी सीएम ने कहा कि आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश और रोजगार कार्यक्रम का शुभारंभ करने के लिए मैं सबसे पहले आदरणीय प्रधानमंत्री जी का हृदय से स्वागत एवं अभिनंदन करता हूं।

Kaushlendra Pathak Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned