नीरव मोदी की जमानत याचिका पर सुनवाई पूरी, सुबह 10 बजे आएगा फैसला

नीरव मोदी की जमानत याचिका पर सुनवाई पूरी, सुबह 10 बजे आएगा फैसला

  • पंजाब नेशनल बैंक घोटाले का मुख्य आरोपी है नीरव मोदी
  • ब्रिटेन के हाईकोर्ट में दाखिला की थी जमानत याचिका
  • सीपीएस ने कहा-फरार हो सकता है नीरव मोदी

नई दिल्ली। पंजाब नेशनल बैंक घोटाले के मुख्य आरोपी और हीरा कारोबारी नीरव मोदी की जमानत याचिका पर आज इंग्लैंड एंड वेल्स के उच्च न्यायालय में सुनवाई हुई। नीरव की जमानत याचिका पर अदालत ने फैसला सुरक्षित रख लिया। बुधवार सुबह 10 बजे इस मामले पर फैसला सुनाया जाएगा। बता दें कि लंदन की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत तीन बार नीरव मोदी की जमानत याचिका खारिज कर चुकी है। हालांकि हाईकोर्ट में यह उसकी पहली जमानत याचिका है।

नीरव मोदी के वकील की दलील

इससे पहले इस मामले में भारत सरकार का पक्ष रखते हुए क्राउन प्रॉसीक्यूशन सर्विस (सीपीएस) ने कहा कि नीरव मोदी फरार हो सकता है। इसके बाद नीरव मोदी के वकील क्लेयर ने कोर्ट में जज के सामने कहा कि नीरव मोदी पेशे से हीरा कारोबारी है, वह कोई पेशेवर अपराधी नहीं है।

उन्होंने आगे कहा कि नीरव अपने कारोबार में ईमानदार और विश्वसनीय माने जाते हैं, लेकिन नीरव मोदी के खिलाफ भारत सरकार जिस तरह दलील दे रही है वह सही नहीं है। मोदी के वकील ने कहा कि नीरव मोदी ने ना तो गवाहों को प्रभावित करने का प्रयास किया है और ना ही धमकाने का।

नीरव मोदी के वकील क्लेयर की दलील पर जज ने कहा कि मैं मान सकता हूं कि उनकी इच्छा ऐसी नहीं होगी, लेकिन ऐसा संभव है। नीरव के वकील ने आगे कहा कि स्विट्जरलैंड और अन्य स्थानों पर उनकी संपत्ति फ्रीज की गई है।

भारत की तरफ से रखी गई दलील

भारत सरकार का प्रतिनिधित्व करने वाली क्राउन प्रॉसीक्यूशन ने कहा, 'अगर प्रत्यर्पण के मामले की सुनवाई के दौरान नीरव को बेल दी जाती है तो कोई बात नहीं है, लेकिन अगर अभी बेल दी गई तो यह सही नहीं होगा। नीरव के खिलाफ गंभीर और संगीन आरोप हैं।'

मामले की सुनवाई कर रहे जज ने स्पष्ट करते हुए कहा कि उन्होंने इस बारे में यह समझा है कि डमी पार्टनर का इस्तेमाल कर लेटर ऑफ अंडरस्टैंडिंग जारी किया गया और पैसा अलग-अलग कंपनियों को भेजा गया। क्राउन प्रॉसीक्यूशन ने इसकी पुष्टि की।

क्या है आरोप

बता दें कि हीरा कारोबारी नीरव मोदी पीएनबी के साथ दो अरब डॉलर तक की धोखाधड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में आरोपी है। धोखाधड़ी मामले में मुकदमा दर्ज होने के बाद सीबीआई ने नीरव की तलाश शुरू कर दी थी। लेकिन कुछ दिनों बाद पता चला की की नीरव लंदन भाग गया है। उसने मुकदमा दर्ज होने से पहले ही देश छोड़ दिया था।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned