शैलजा हत्याकांड में एक महीने बाद पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, डायरी और पेन ड्राइव खोलेंगे कई चौंकाने वाले राज

मेजर की पत्नी शैलजा द्विवेदी हत्याकांड में पुलिस को कई अहम सुराग हाथ लगे हैं।

नई दिल्ली। मेजर अमित द्विवेदी की पत्नी शैलजा द्विवेदी हत्याकांड में पुलिस ने करीब एक महीने बाद चौंकाने वाला खुलासा किया है। दरअसल, शैलजा हत्याकांड में जुटी पुलिस को को एक और अहम सुराग हाथ लगा है। यह सुराग पुलिस को असम के दीमापुर स्थित आर्मी कैंटोनमेंट एरिया में बने उस मकान में मिला जहां पर आरोपी मेजर निखिल हांडा साल 2015 से रह रहा था।

पेन ड्राइव और डायरी खोल सकते हैं कई अहम राज

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, जांच टीम ने छापे के दौरान यहां से पेन ड्राइव और शॉफ्टवेय के अलावा एक डायरी भी बरामद की है। अब बताया जा रहा है कि डायरी से कुछ और अहम सबूत पुलिस के हाथ लग सकते हैं, जिससे आरोपी निखिल हांडा को सजा दिलाने में सहायता मिलेगी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जांच में जुटी टीम का कहना है कि शैलजा हत्याकांड में शॉफ्टवेयर से कुछ और अहम सुराग मिलने की उम्मीद है। सबूत तलाशने के कड़ी में पुलिस ने शॉफ्टवेयर को जांच के लिए लैब में भेजा है, जिसकी रिपोर्ट आने के बाद आरोपी निखिला हांडा पर शिकंजा कसा जा सकेगा।

शादीशुदा जिंदगी से खुश नहीं था निखिल हांडा!

पुलिस का कहना है कि जो डायरी हमे हाथ लगी, इससे जांच में काफी मदद मिलेगी। पहले कहा जा रहा था कि डायरी मेजर हांडा की पत्नी ने लिखी है, लेकिन पुलिस इसे सिरे से खारिज कर रही है। पुलिस का मानना है कि यह डायरी निखिल की ही है और इसमें लिखी बातें सबूत के तौर पर कोर्ट में रखी जाएंगी। इतना ही नहीं पुलिस का कहना है कि जो डायरी उन्हें मिली है, उसके मुताबकि मेजर निखिल हांडा अपनी शादीशुदा जिंदगी से ज्यादा खुश नहीं था। वह निराश, उदास, बीमार और अकेलेपन का शिकार लग रहा है। वहीं, पुलिस अधिकारियों का कहना है कि जल्द से जल्द चार्जशीट फाइल करने की तैयारी की जा रही है।

Kaushlendra Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned