योग गुरु बाबा रामदेव का बड़ा बयान, नहीं कह सकते कौन होगा देश का अगला प्रधानमंत्री

योग गुरु बाबा रामदेव का बड़ा बयान, नहीं कह सकते कौन होगा देश का अगला प्रधानमंत्री

2014 में पीएम मोदी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए योग गुरु रामदेव ने भी काफी माहौल बनाया था। लेकिन 4 साल के भीतर ही उनका ये बयान कई सवाल खड़े कर रहा है।

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव से पहले उत्तर भारत के तीन राज्यों के आए विधानसभा चुनाव परिणामों के बाद राजनीति पल-पल बदल रही है। विपक्ष इसे अपनी बड़ी जीत मानकर लोकसभा चुनाव में महागठबंधन की सरकार बनने का दावा कर रहा है । वहीं भाजपा इस जीत को अलग अलग तौर पर देख रही है। भाजपा का कहना है कि राज्यों के चुनावी नतीजों से केंद्र सरकार की नीतियों का आंकलन करना सही नहीं है। लोकसभा चुनाव केंद्र सरकार की ओर से किए गए । जनकल्याणकारी योजनाएं के आधार पर लड़ा जाएगा। इस सबके बीच योग गुरु रामदेव ने बड़ा बयान दिया है। मदुरै में मंगलवार को बाबा रामदेव ने कहा कि देश की राजनीतिक स्थिति बहुत दुविधापूर्ण है। हम नहीं कह सकते कि अगला प्रधानमंत्री कौन होगा।

योग गुरु बाबा रामदेव ने आगामी लोकसभा चुनाव में एनडीए की वापसी वाले सवाल के जवाब में कहा कि यह कह पाना अभी मुश्किल है कि 2019 में एनडीए सत्ता में आएगी। योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा, 'मैं न तो किसी का समर्थन करता हूं और न किसी का विरोध करता हूं। हमारा लक्ष्य सांप्रदायिक भारत या एक हिंदू भारत बनाने का नहीं है बल्कि हम एक आध्यात्मिक भारत और आध्यात्मिक विश्व बनाना चाहते हैं।'

 

बाबा रामदेव का यू टर्न

गौरतलब है कि 2014 में पीएम मोदी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए योग गुरु रामदेव ने भी काफी माहौल बनाया था। लेकिन 4 साल के भीतर ही उनका ये बयान कई सवाल खड़े कर रहा है। बाबा रामदेव ने 2014 से लेकर अभी तक पीएम मोदी की कई नीतियों की तारीफ कर चुके हैं। लेकिन अचानक उनका यह बयान मोदी समर्थकों के लिए किसी झटका से कम नहीं है।

महागठबंधन का बढ़ रहा कुनबा

छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और राजस्थान के चुनावी नतीजों के आने के बाद देश की राजनीति में काफी बदलाव दिखा है। विपक्ष का कुनबा बढ़ता जा रहा है। हाल ही में एनडीए से अलग हुए उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी राष्ट्रीय लोक समता पार्टी महागठबंधन का हिस्सा बनी है। उपेंद्र कुशवाहा ने NDA पर अनदेखी करने का आरोप लगाते हुए पार्टी से अलग होने का फैसला किया। वहीं एनडीए के घटक दल का हिस्सा अपना दल ने भी राजग पर क्षेत्रियों पार्टियों को नजरअंदाज करने का आरोप लगाया है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned