दिल्ली-एनसीआर में बढ़ा प्रदूषण, गाजियाबाद में सबसे खराब हवा

Highlights

  • वायु गुणवत्ता सूचकांक 84 अंकों के इजाफे के साथ 379 दर्ज की गई।
  • उतर प्रदेश में कुल 189 पराली जलाने की घटनाएं दर्ज की गई।

नई दिल्ली। मौसम में बदलाव की वजह से कई दिन से चल रही राहत के बाद मंगलवार दोबारा से राजधानी और इसके आसपास प्रदूषण का स्तर फिर से बहुत खराब श्रेणी में पहुंच गया। दिल्ली-एनसीआर में शामिल फरीदाबाद, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद व नोएडा की हवा बहुत खराब श्रेणी में दर्ज की गई।

PM Modi ने देशवासियों को दी कोरोना से बचने की सलाह, बोला इस फिल्म का डायलॉग

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड( सीपीसीबी) के अनुसार मंगलवार को राजधानी का औसतन वायु गुणवत्ता सूचकांक 84 अंकों के इजाफे के साथ 379 दर्ज की गई। इसे खराब श्रेणी में रखा जाता है। एक दिन पहले यहां आंकड़ा 295 के साथ खराब श्रेणी में बना हुआ था।

पराली जलाने की घटनाओं में कमी पाई गई

वहीं रविवार को ये 274 दर्ज किया गया था। इसके साथ ही शाम 5 बजे तक प्रदूषण के लिए जिम्मेदार तत्व पीएम 10 का स्तर 334 पहुंच गया। वहीं पीएम 2.5 का स्तर 181 के साथ खराब स्थिति में पहुंच गया।
पहले के मुकाबले पराली जलाने की घटनाओं में काफी कमी पाई जा रही है। इस कड़ी में बीते 24 घंटे में दिल्ली के पड़ोसी राज्य हरियाणा,पंजाब और उतर प्रदेश में कुल 189 पराली जलाने की घटनाएं दर्ज की गई। इसके प्रदूषण के लिए जिम्मेदार तत्व पीएम 2.5 में पांच फीसदी हिस्सेदारी रही।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned