प्रेस काउंसिल ने अर्नब गोस्वामी पर ‘हमले’ की निंदा की, महाराष्ट्र सरकार से रिपोर्ट मांगी

Highlight

- पत्रकार अर्नब गोस्वामी पर हुआ था हमला

- प्रेस काउंसिल ने महाराष्ट्र सरकार से मांगी है रिपोर्ट

पत्रिका ब्यूरो, नई दिल्ली। सोनिया गांधी पर टिप्पणी और उसके बाद पत्रकार अर्नब गोस्वामी पर हुए हमले को लेकर विवाद गहराता जा रहा है। अब भारतीय प्रेस परिषद (पीसीआई) ने गोस्वामी पर हुए कथित हमले की निंदा की है। परिषद ने गुरुवार को इस घटना पर बयान जारी किया है। बयान में कथित हमले की आलोचना करते हुए महाराष्ट्र सरकार से रिपोर्ट मांगी है। यही नहीं, सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने भी इसकी निंदा की।

खराब पत्रकारिता का भी जवाब हिंसा नहीं: PCI

PCI ने अपने बयान में कहा, ‘इस देश में पत्रकारों सहित हर नागरिक को अपने विचार रखने का अधिकार है, जो कई लोगों को ठीक नहीं लग सकता है। लेकिन यह किसी तरह की आवाज को दबाने का अधिकार नहीं देता है। खराब पत्रकारिता के खिलाफ भी हिंसा जवाब नहीं हो सकती।’

जल्द से जल्द रिपोर्ट सौंपने की मांग

आपको बता दें कि अर्नब ने सोनिया गांधी को पालघर मामले में घेरते हुए टिप्पणी की थी। इसके बाद से ही बवाल खड़ा हो गया। वहीं, बुधवार को घर लौटते वक्त पत्रकार और उनकी पत्नी पर कथित हमला हुआ। इसका आरोप कांग्रेस पर लग रहा है। इस मामले का स्वत: संज्ञान लेते हुए PCI के अध्यक्ष ने महाराष्ट्र सरकार से कहा है कि मुख्य सचिव और मुंबई के पुलिस आयुक्त के माध्यम से मामले के तथ्यों पर जल्द से जल्द रिपोर्ट सौंपी जाए।

पत्रकार पर हमला लोकतंत्र के खिलाफ

वहीं, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने कहा कि हम किसी भी पत्रकार पर हुए हमले की निंदा करते है। यह लोकतंत्र के खिलाफ है। इसके अलावा, भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा समेत कई भाजपा के नेताओं और केंद्रीय मंत्रियों ने भी इसकी निंदा की है।

Kapil Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned