योगी पर कांग्रेस महासचिव के दिए बयान पर बोलीं केंद्रीय मंत्री, अपना नाम बदलकर 'फिरोज प्रियंका' रख लें

  • केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने खोला प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi Vadra) के खिलाफ मोर्चा।
  • सोमवार को प्रियंका गांधी ने भगवा को लेकर योगी आदित्यनाथ को घेरा था।
  • ज्योति (Sadhvi Niranjan Jyoti) ने प्रियंका को फर्जी गांधी का नाम इस्तेमाल करने वाला कहा।

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पर की गई भगवा टिप्पणी के जवाब में केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति (Sadhvi Niranjan Jyoti) ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi Vadra) पर निशाना साधा है। ज्योति ने मंगलवार को कहा कि एक फर्जी गांधी भगवा रंग को नहीं समझ सकता और सलाह दी कि उन्हें अपना नाम बदलकर 'फिरोज प्रियंका' रख लेना चाहिए।

लखनऊ मामले को लेकर सीआरपीएफ का दावा, प्रियंका गांधी की सुरक्षा में नहीं हुई कोई चूक

मीडिया से बातचीत में ज्योति ने कहा, "प्रियंका गांधी भगवा को नहीं समझ सकतीं क्योंकि वह फर्जी गांधी हैं। उन्हें अपने नाम से गांधी हटा लेना चाहिए और इसे बदलकर फिरोज प्रियंका कर लेना चाहिए। प्रियंका गांधी को आदित्यनाथ से परेशानी है क्योंकि वह उत्तर प्रदेश में अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई कर रहे हैं। उन्हें आगे आकर यह साफ करना चाहिए कि क्या वह दंगाइयों के पीछे हैं।"

उन्होंने आगे कहा, "जिस तरह से उन्होंने योगी की आलोचना की वह दिखाता है कि जो लोग फर्जी नाम का इस्तेमाल करते हैं उन्हें हर चीज उसी तरह दिखाई देती है। भगवा ज्ञान और लगाव का प्रतीक है।"

उन्होंने प्रियंका गांधी से पूछा कि क्या जिन्होंने निर्दोष लोगों को पीटा और पुलिस पर पत्थर फेंके, उन्हें सजा मिलनी चाहिए या नहीं। ज्योति (Sadhvi Niranjan Jyoti) ने कहा, "ऐसा लगता है कि आप (प्रियंका) ने ही उन्हें भड़काया और उनसे (सीएए के खिलाफ प्रदर्शनकारियों को) सड़क पर आने के लिए कहा।"

बड़ी खबरः RSS ने भाजपा के लिए बनाया यह प्लान, आज की बैठक और कर दिया लागू जिससे होगा बड़ा फायदा

गौरतलब है कि सोमवार को प्रियंका गांधी ने लखनऊ में भगवा को लेकर योगी आदित्यनाथ पर हमला किया था। प्रियंका ने कहा था, "योगी जी भगवा पहनते हैं। यह उनका निजी नहीं है। भगवा रंग इस देश के धार्मिक और आध्यात्मिक भावना का प्रतीक है। यह हिंदू धर्म का चिह्न है। उन्हें इस धर्म का पालन करना चाहिए। इस धर्म में बदला और हिंसा की कोई जगह नहीं है।"

अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned