किसान आंदोलन को और तेज करने का फैसला, 18 फरवरी को रेल रोको अभियान

Highlights

  • दोपहर 12 बजे से शाम चार बजे तक रेल रोको अभियान चलाया जाएगा।
  • राजस्थान के सभी रास्ते पर टोल प्लाजा को टोल मुक्त करवाया जाएगा।

नई दिल्ली। तीन कृषि कानूनों (Farm Laws) को वापस लेने की मांग पर अड़े किसानों ने अब कड़ा रुख अपनाया है। प्रदर्शन कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक में बुधवार को एक अहम फैसला लिया गया है। इस फैसले में आंदोलन को और तेज करने का निर्णय लिया है।

पीएम मोदी ने जताई उम्मीद, इस बार भारत की अर्थव्यवस्था दो डिजिट ग्रोथ के साथ उभरेगी

संयुक्त मोर्चा ने अब किसान ट्रैक्टर रैली और देशभर में जाम लगाने के बाद अब 18 फरवरी को दोपहर 12 बजे से शाम चार बजे तक रेल रोको अभियान चलाने का फैसला लिया है। इस फैसले के बाद बाद अब सरकार के लिए बड़ी मुश्किल खड़ी होने वाली है।

इसके साथ संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक में चार अहम बिंदुओं पर फैसला लिया गया है। 12 फरवरी से राजस्थान के सभी रास्ते पर टोल प्लाजा को टोल मुक्त करवाया जाएगा।

इसके साथ 14 फरवरी को पुलवामा हमले में शहीद जवानों के बलिदान को याद किया जाएगा। इसके लिए देशभर में कैंडल मार्च में मशाल जुलूस और अन्य कार्यक्रम आयोजित होंगे। संयुक्त मोर्चा ने 16 फरवरी को किसान मसीहा सर छोटू राम की जयंती के दिन देशभर में किसान एकजुटता दिखाने का फैसला किया है।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned