बिना सूचना के गायब रहने वाले 13,500 कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखाएगा भारतीय रेलवे

इंडियन रेलवे अपने कर्मचारियों बड़ी कार्रवाई करने जा रहा है। ऐसे कर्मचारियों की संख्या 13,500 के आसपास बताई जा रही है।

नई दिल्ली। इंडियन रेलवे अपने कर्मचारियों बड़ी कार्रवाई करने जा रहा है। ऐसे कर्मचारियों की संख्या 13,500 के आसपास बताई जा रही है। ये वो कर्मचारी हैं, जो बिना सूचना दिए लंबी छुट्टी पर गए हुए हैं। अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए उठाते हुए विभाग इन कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखाएगा। इस संबंध में केन्द्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने उच्च अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि बिन बताए गायब होने वाले कर्मचारियों का पता लगाकर उनकी लिस्ट तैयार की जाए।

रेल मंत्री ने दिए निर्देश

रेल मंत्री पीयूष गोयल की ओर से जारी निर्देश के बाद सामने आया कि 13,500 से भी अधिक कर्मचारी लंबे समय से बिना बताए गायब हैं। जानकारी मिली है कि अब अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए रेलवे इन कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त करने जा रहा है। विभाग ने उच्च अधिकारियों और पर्यवेक्षकों से ऐसे कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त करने के निर्देश दिए हैं। बता दें कि रेलवे में कुल 13 लाख कर्मचारी हैं, जिसमें से बहुत से कर्मचारी बिना किसी सूचना के लंबे समय तक गायब रहते हैं।

खत्म होंगे मानव रहित क्रासिंग

केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को अपने बजट भाषण में कहा कि सरकार ने भारतीय रेलवे के लिए वित्त वर्ष 2018-19 हेतु 1.48 लाख करोड़ रुपये के पूंजीगत व्यय का प्रस्ताव पेश किया। इससे रेलवे की क्षमता बढ़ाई जाएगी। जेटली ने अपने बजट भाषण में कहा, "रेलवे का 2018-19 के लिए पूंजीगत व्यय 1,48,528 करोड़ रुपये रखा गया है। मंत्री ने कहा कि सरकार का मुख्य ध्यान इसकी क्षमता बढ़ाने पर है। उन्होंने कहा कि पूंजीगत व्यय का बड़ा हिस्सा रेलवे की क्षमता निर्माण को समर्पित है। जेटली के अनुसार 18,000 किमी रेल मार्ग का दोहरीकरण व 5,000 किमी रेल मार्ग की तीसरी व चौथी लाइनों को ब्राड गेज में बदलने से इसकी क्षमता बढ़ जाएगी। इससे लगभग पूरा नेटवर्क ब्राड गेज में बदल जाएगा। उन्होंने कहा कि हम तेजी से भारतीय रेलवे के नेटवर्क के बेहतरीन विद्युतीकरण की तरफ बढ़ रहे हैं। 2018-19 में कुल 4,000 किमी को इस्तेमाल में लाए जाने का लक्ष्य रखा गया है। वित्तमंत्री ने कहा कि पूर्व व पश्चिम समर्पित माल ढुलाई गलियारे का काम भी पूरे जोरों पर है। उन्होंने कहा कि 12,000 वैगन, 5,160 कोच व 700 इंजनों की खरीद की जा रही है। वित्तमंत्री के अनुसार रेलवे ने भौतिक लक्ष्यों में महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल की है। उन्होंने कहा कि हम अगले दो सालों में 4,267 मानव रहित क्रासिंग को खत्म कर रहे हैं।

Show More
Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned