राजनाथ का बड़ा फैसला, अगस्‍त तक रक्षा सचिव बने रहेंगे संजय मित्रा

राजनाथ का बड़ा फैसला, अगस्‍त तक रक्षा सचिव बने रहेंगे संजय मित्रा

  • राजनाथ सिंह ने रक्षा मंत्री का पदभार ग्रहण करते ही लिया बड़ा निर्णय
  • रक्षा सचिव संजय मित्रा का कार्यकाल तीन महीने के लिए बढ़ाया
  • रक्षा मंत्री के सामने भरोसेमंद टीम तैयार करना बड़ी चुनौती

नई दिल्‍ली। भाजपा केे वरिष्‍ठ नेता राजनाथ सिंह ने रक्षा मंत्री का पदभार संभालते ही बड़ा निर्णय लिया। इस निर्णय के तहत उन्‍होंने रक्षा मंत्रालय में सबसे वरिष्‍ठ नौकरशाह और रक्षा सचिव संजय मित्रा का कार्यकाल तीन महीने के लिए बढ़ा दिया है। अब संजय मित्रा अगस्‍त तक इस पद पर बने रहेंगे। जानकारी के मुता‍बिक तब तक रक्षा मंत्री नए रक्षा सचिव का चयन कर लेंगे। उनका कार्यकाल अगले रक्षा सचिव के चयन होने तक के लिए बढ़ाया गया है। फिलहाल इतना तय हो गया है कि नए रक्षा सचिव का कार्यकाल दो साल का होगा।

कर्नाटक के पूर्व सीएम सिद्धारमैया बोले, केंद्र में मोदी की वापसी से कुमारस्‍वामी...

rajnath

प्रभावी टीम तैयार करना बड़ी चुनौती

इससे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रक्षा मंत्रालय के उच्‍च स्‍तरीय अधिकारियों के साथ बैठक की। रक्षा मंत्री के सामने सबसे पहले नागरिक और सैन्‍य अधिकारियों की मजबूत टीम तैयार करने की चुनौती है, जिससे रक्षा मंत्रालय के कामकाज को स्‍थायित्‍व मिल सके। बता दें कि पिछले पांच साल में लगातार रक्षा मंत्री बदले जाने से मंत्रालय में शीर्ष अधिकारियों के बीच तनाव का माहौल रहा है।

कर्नाटक में सरकार बचाने के लिए डिप्‍टी सीएम जी परमेश्‍वर का ब्रेकफास्‍ट कॉल

Indian army

सेना को करना होगा सभी क्षमताओं से लैस

बता दें कि लोकसभा चुनाव के बाद 30 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्‍व में नई सरकार ने अपना कामकाज शुरू कर दिया है। इस बार भाजपा के वरिष्‍ठ नेता को रक्षा मंत्रालय की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है। राजनाथ सिंह ने शनिवार को अपना पदभार ग्रहण कर लिया। अब उनके सामने भारतीय सेना को सभी क्षमताओं से लैस करने की चुनौती है, ताकि भारतीय सेना किसी भी संभावित चुनौतियों का सामना कर सके।

पीएम मोदी के शपथ ग्रहण में न आने को लेकर ममता बनर्जी पर बोले मनोज तिवरी, उन्‍हें आना भी नहीं चाहिए

defence ministry

बिपिन रावत और बीएस धनोआ होने वाले हैं रिटायर

इसके अलावा आर्मी चीफ बिपिन रावत और वायु सेना प्रमुख बीएस धनोआ भी इस साल के अंत तक सेवानिवृत्त हो जाएंगे। बिपिन रावत इस साल के अंत में तो बीएस धनोआ सितंबर में सेवानिवृत्त होने वाले हैं। इनके स्‍थान पर नए सेनाध्‍यक्ष और वायु सेनाध्‍यक्ष का चयन इतना आसान नहीं माना जा रहा है। ऐसा इसलिए कि अभी तक वरिष्‍ठता के आधार पर सेनाध्‍यक्षों का चयन होता आया है। लेकिन इस बार वरिष्‍ठ अधिकारियों के चयन में नई नीतियों पर अमल होगा या पुरानी परिपाटी पर अमल किया जाएगा ये बात अभी स्‍पष्‍ट नहीं है।

sanjay mitra

कौन हैं रक्षा सचिव संजय मित्रा

संजय मित्रा पश्च‍िम बंगाल कैडर के 1982 बैच के IAS अधिकारी हैं। वह मई 2017 से रक्षा सचिव के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे हैं। मित्रा ने मोहन कुमार के कार्यकाल पूरा करने के बाद रक्षा सचिव का पद संभाला था। इसके पहले 2015 में सड़क परिवहन एवं हाईवे मंत्रालय में सचिव के पद पर उन्होंने अपनी सेवाएं दी थीं। मित्रा पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव के पद पर भी रह चुके हैं। मनमोहन सिंह के कार्यकाल में पीएमओ में संयुक्त सचिव के पद पर मित्रा काम कर चुके हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned