आतंकी देश घोषित करने संबंधी निजी विधेयक राज्यसभा में पेश किया गया 

Vikas Gupta

Publish: Feb, 03 2017 08:37:00 PM (IST)

इंडिया की अन्‍य खबरें
आतंकी देश घोषित करने संबंधी निजी विधेयक राज्यसभा में पेश किया गया 

राज्यसभा में निर्दलीय सांसद राजीव चन्द्रशेखर ने आतंकवाद प्रायोजक देश की घोषणा विधेयक, 2016  नाम का निजी विधेयक राज्यसभा में पेश किया। 

नई दिल्ली। अपनी जमीन से आतंकवाद को बढ़ावा देने वाले पाकिस्तान एवं अन्य देशों को आतंकवाद प्रायोजक देश घोषित करने से संबंधित एक निजी विधेयक शुक्रवार को राज्यसभा में पेश किया गया। राज्यसभा में निर्दलीय सांसद राजीव चन्द्रशेखर ने आतंकवाद प्रायोजक देश की घोषणा विधेयक, 2016  नाम का निजी विधेयक राज्यसभा में पेश किया। 

इस विधेयक में आतंकवाद को बढ़ावा देने वाले देशों को आतंकवाद प्रायोजक देश घोषित करने और उनके साथ आर्थिक तथा व्यापारिक संबंध समाप्त करने की बात कही गई है। इसके साथ ही विधेयक में ऐसे देशों के नागरिकों पर विधिक, आर्थिक और यात्रा प्रतिबंध लगाने का भी प्रावधान करने को कहा गया है। विधेयक पेश करते हुए उन्होंने कहा कि पाकिस्तान समर्थित आतंकवादियों ने बार-बार हमला करके भारत की संप्रभुता को ललकारा है । 

उन्होंने देश की सर्वोच्च पंचायत संसद पर भी हमला किया है। इन हमलों में हजारों असैनिक और सैनिक मारे जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि मैंने यह संकल्प लिया था कि मैं पाकिस्तान को आतंकवाद प्रायोजित देश घोषित कराने के लिए काम करूंगा और यह विधेयक उसी दिशा में एक कदम है। उन्होंने कहा कि भारत ने विभिन्न हमलों में पाकिस्तान के हाथ होने के पुख्ता सबूत दिए हैं लेकिन पाकिस्तान की ओर से अब तक किसी भी मामले में कार्रवाई नहीं हुई है। 

उनका कहना था कि भारत को अब पाकिस्तान के साथ अर्थहीन बातचीत बंद करके राजनयिक, विधिक, आर्थिक और खेल के क्षेत्रों में प्रतिबंध जैसे विकल्पों को आजमाना चाहिए। इसके साथ ही पाकिस्तान को दिए गए तरजीही देश का दर्जा और सिंधु जल संधि की समीक्षा करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि दुनिया का आसरा छोड़ भारत को खुद ही पाकिस्तान को आतंकवाद प्रायोजित देश घोषित करने की दिशा में ठोस कदम उठाने चाहिए। चंद्रशेखर ने कहा कि संसद ने भी इस बारे में वर्ष 1994 में संकल्प पारित करने के अलावा कुछ नहीं किया है। 

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned