राम मंदिर पर भाजपा के समर्थन में लोजपा, पासवान ने किया अध्यादेश का विरोध

पासवान ने अचानक राम मंदिर को लेकर बड़ा बयान दिया है।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एक जनवरी को साफ कह दिया कि राम मंदिर को लेकर सरकार अध्यादेश नहीं लाएगी। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला सर्वमान्य होगा। हालांकि, पीएम के इस बयान का लगातार विरोध चल रहा है। लेकिन, इसी बीच भाजपा के सहोयगी दल लोजपा के सुप्रीमो रामविलास पासवान पीएम के समर्थन में उतर गए हैं।

राम मंदिर पर सरकार को लोजपा का साथ

रामविलास पासवान ने गुरुवार राम मंदिर मुद्दे पर अध्यादेश का विरोध किया और कहा कि मामले में सुप्रीम कोर्ट का निर्णय अंतिम होना चाहिए। मीडिया से बात करते हुए पासवान ने कहा कि राम मंदिर के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट जो भी निर्णय दे वह सभी को स्वीकार्य होना चाहिए, चाहे वे हिंदू हों, मुस्लिम हों या फिर अन्य समुदाय के लोग हों। हमारा रूख एक समान रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने जब कहा कि हम सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का इंतजार करेंगे तो सभी अगर-मगर खत्म हो जाना चाहिए।

अध्यादेश पर पासवान का बड़ा बयान

जब पासवान से पूछा गया कि इस मुद्दे पर क्या वह अध्यादेश का समर्थन करेंगे, तो पासवान ने कहा कि उनका रूख एकसमान रहा है और वह इसका समर्थन नहीं करेंगे। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि राम मंदिर मुद्दे पर सरकार कोई निर्णय नहीं करेगी, जबकि न्यायिक प्रक्रिया खत्म नहीं हो जाती है। गौरतलब है कि विश्व हिन्दू परिषद लगातार सरकार पर अध्यादेश लाने का दबाव बना रही है। कई अन्य संगठन भी अध्यादेश लाने की मांग कर रहे हैं।

BJP Narendra Modi
Show More
Kaushlendra Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned