12 नवंबर तक राजधानी दिल्ली में ट्रकों के प्रवेश पर पाबंदी

12 नवंबर तक राजधानी दिल्ली में ट्रकों के प्रवेश पर पाबंदी

Anil Kumar | Publish: Nov, 10 2018 09:54:54 PM (IST) | Updated: Nov, 10 2018 09:54:55 PM (IST) इंडिया की अन्‍य खबरें

ईपीसीए ने शनिवार को दिल्ली सरकार को आदेश दिया कि निर्माण कार्यो एवं ट्रकों के प्रवेश पर प्रतिबंध 12 नवंबर तक बढ़ा दिया जाए।

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली और एनसीआर में दीपावली के बाद से प्रदूषण के स्तर पर कोई सुधार नजर नहीं आया है। इसी को देखते हुए देश की सर्वोच्च अदालत से नियुक्त पर्यावरण प्रदूषण (नियंत्रण एवं रोकथाम) प्राधिकरण (ईपीसीए) ने निर्माण कार्यो एवं ट्रकों के राजधानी में प्रवेश पर प्रतिबंध की मियाद बढ़ाने का फैसला किया है। बता दें कि इससे पहले निर्माण कार्यो एवं ट्रकों के प्रवेश पर 10 नवंबर तक रोक का निर्देश जारी किया गया था। ईपीसीए ने शनिवार को दिल्ली सरकार को आदेश दिया कि निर्माण कार्यो एवं ट्रकों के प्रवेश पर प्रतिबंध 12 नवंबर तक बढ़ा दिया जाए। हालांकि यह कहा गया है कि आवश्यक वस्तुओं की ढुलाई करने वाले ट्रकों को इस प्रतिबंध से छूट है। ये प्रतिबंध दो नवंबर को लगाए गए थे। मालूम हो कि दिल्ली में शनिवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक 401 के साथ गंभीर स्तर का रहा। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) ने राज्यों को लिखे पत्र में ट्रांसपोर्टरों एवं पुलिस से यह सुनिश्चित करने को कहा है कि ट्रक दिल्ली में प्रवेश न करें।

8 से 10 नवंबर तक राजधानी दिल्ली में ट्रकों के प्रवेश पर पाबंदी

राजधानी में बढ़ गया है प्रदूषण का स्तर

आपको बता दें कि राजधानी दिल्ली और एनसीआर में प्रदूषण का स्तर काफी बढ़ गया है। इसके कई पहलू है। लिहाजा बढ़ते प्रदूषण के स्तर को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार और दिल्ली सरकार को फटकार लगाई। साथ ही जरूर उपाय करने के निर्देश दिए। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद राजधानी दिल्ली में निर्माण कार्यों को बंद कर दिया गया तो वहीं पड़ोसी राज्यों से आने वाली बड़ी गाड़ियों के प्रवेश को बंद कर दिया गया है। बता दें कि पड़ोसी राज्य पंजाब और हरियाणा में किसानों द्वारा पराली जलाने से दिल्ली की हवा बेहद ही खराब हो गई है।

Ad Block is Banned