कैबिनेट में JDU की नो एंट्री पर लालू का बयान, BJP ने नीतीश को बनाया छटुआ बंदर

मोदी कैबिनेट में हुआ ये तीसरा फेरबदल, सुरेश प्रभु से रेल मंत्रालय लेकर पीयूष गोयल को दिया गया।

नई दिल्ली: रविवार को मोदी सरकार में उनके कार्यकाल का तीसरा फेरबदल किया गया। इस कैबिनेट विस्तार में 9 नए मंत्रियों को कैबिनेट में जगह दी गई है तो वहीं 4 मंत्रियों का प्रमोशन किया गया है। इसके अलावा सुरेश प्रभु, उमा भारती, राजीव प्रताप रुड़ी ने कैबिनेट फेरबदल से पहले ही इस्तीफे दे दिए थे।


बीजेपी को नहीं रहा नीतीश पर भरोसा-लालू
कैबिनेट विस्तार से पहले ये माना जा रहा था कि जेडीयू से भी कुछ नेताओं को कैबिनेट में जगह दी जाएगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। कैबिनेट फेरबदल के बाद विपक्ष ने बीजेपी पर व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधना शुरु कर दिया है। आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने नीतीश कुमार और पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए उस वजह को बताया जिसकी वजह से जेडीयू से किसी को भी मंत्रीमंडल में जगह नहीं मिली।

बीजेपी ने नीतीश को दिखा दिया ठेंगा
लालू यादव ने बताया कि बीजेपी नीतीश कुमार पर भरोसा नहीं कर रही है, बीजेपी ने नीतीश को ठेंगा दिखा दिया है। लालू ने बताया कि नीतीश कुमार खुद ही मीडिया के सामने इस बात को कबूल कर रहे हैं कि मंत्रीपद के लिए हमसे कोई चर्चा नहीं हुई है। एक न्‍यूज एजेंसी से बातचीत में लालू ने नीतीश कुमार की तुलना उस बंदर से की जिसे गाछ से गिरने के बाद बंदर भी अपने समूह में शामिल नहीं करता है।

छटुआ बंदर की तरह हुई नीतीश की हालत- लालू
लालू यादव ने कहा कि नीतीश कुमार की जो इज्जत, जो प्रतिष्‍ठा महागठबंधन में थी वो उन्हें बीजेपी में नहीं मिलेगी। लालू ने कहा कि जो बंदर समूह में रहते हुए गाछ पर से गिर जाता है उसे फिर से गिरोह में नहीं मिलाया जाता है, ये छटुआ बंदर के रूप में हैं। लालू ने बताया कि मंत्री नहीं बनाए जाने के पीछे की असली वजह कुछ और है जो सिर्फ हमें पता है। यह बात मीडिया वाले नहीं जानते हैं। नीतीश कुमार कांग्रेस पार्टी को तोड़ने में लगे हैं।

 


जेडीयू ने किया लालू पर पलटवार
लालू यादव के बयान का जेडीयू की तरफ से जवाब भी आया। पार्टी के नेता केसी त्यागी ने लालू यादव के बयान का जवाब देते हुए कहा कि ये कैबिनेट फेरबदल बीजेपी का आंतरिक फेरबदल है, एनडीए का नहीं, इसलिए हम इस पर कोई टिप्पणी नहीं करेंगे।


शिवसेना की टिप्पणी
वहीं NDA के एक और घटक दल शिवसेना की तरफ से भी कैबिनेट विस्तार को लेकर बयान आया है। शिवसेना ने भी इसे बीजेपी का आंतरिक कैबिनेट फेरबदल बताया है। शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि ये बीजेपी का अपना कैबिनेट फेरबदल है, NDA का नहीं।

 

कांग्रेस ने नए और प्रमोशन वाले मंत्रियों को बताया अयोग्य
मोदी कैबिनेट में तीसरे फेरबदल पर कांग्रेस ने भी निशाना साधा है। कांग्रेस पार्टी ने सभी नए मंत्रियों और प्रमोशन पाने वाले मंत्रियों को अयोग्य बताया है। कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने कहा कि इस सरकार में कौशल विकास और रोजगार पर कोई काम नहीं हो पाया इसीलिए राजीव प्रताप रूडी और दत्तात्रेय को मंत्रिमंडल से बाहर कर दिया गया है। तिवारी ने धर्मेंद्र प्रधान पर निशाना साधते हुए कहा कि एक आदमी को फायदा पहुंचाने के लिए यह फेरबदल किया गया है।

ashutosh tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned