संघ प्रमुख मोहन भागवत ने केरल के स्कूल में फहराया तिरंगा

केरल सरकार के आदेश की अवहेलना करते हुए आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने केरल के एक स्‍कूल में तिरंगा फहराया ।

नई दिल्‍ली. राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने केरल (पलक्कड़) स्थित एक स्‍कूल में गणतंत्र दिवस के अवसर पर तिरंगा फहराया। उन्‍होंने जिस स्कूल में तिरंगा फहराया उसे संघ के कार्यकर्ता चलाते हैं।

2017 में भी हुआ था विवाद
विगत वष्र भी संघ प्रमुख मोहन भागवत ने एक सरकारी स्कूल में तिरंगा फहराया था। इस बात को लेकर काफी विवाद हुआ था। इस साल दोबारा भागवत का यहां आना और झंडा फहराना केरल की पिनरई सरकार के लिए चुनौती के तौर पर देखा जा रहा है। केरल सरकार ने कुछ दिनों पहले ही बजट भाषणा में आरएसएस को सांप्रदायिक बताया था। तिरंगा फहराने को लेकर पिछले साल विवाद तब बढ़ गया जब संघ प्रमुख ने कर्णाकिम्मन हायर सेकेंडरी स्कूल में राष्ट्रीय ध्वज फहराया। किसी सरकारी स्कूल में संघ प्रमुख द्वारा झंडा फहराए जाने को पलक्कड़ जिला कलेक्टर के आदेशों का उल्लंघन माना गया। इस बार भी प्रदेश सरकार ने भागवत के झंडा फहराने पर रोक लगाई हुई है। संघ अधिकारियों की मानें तो पलक्कड़ के जिस व्यास विद्या पीठम हायर सेकेंडरी स्कूल में संघ प्रमुख ने तिरंगा फहराया, वह स्कूल संघ का संगठन विद्या भारती की ओर से चलाया जाता है।

तीन दिवसीय दौरे पर हैं भागवत
संघ के प्रदेश संयोजक केके बलराम ने कहा कि यह कोई सरकारी स्कूल नहीं है या सरकार से इसे कोई अनुदान नहीं मिलता है। स्कूल प्रबंधन को फैसला लेने का अधिकार है कि कौन झंडा फहराएगा। स्कूल प्राइवेट है इसलिए सरकार का सर्कुलर इसके लिए बाध्यकारी नहीं है। बलराम ने कहा कि संघ प्रमुख केरल के तीन दिवसीय दौरे पर हैं। संघ के कार्यकर्ताओं ने यहां एक स्कूल में कार्यक्रम आयोजित किया है। इस सिलसिले में भागवत केरल आए हैं और यहां पर उनके तिरंगा फहराने में कोई बुराई नहीं है। उन्‍होंने यह भी बताया कि केरल के जिस स्कूल में तीन दिनी कार्यक्रम आयोजित हो रहा है उसमें संघ के लगभग पांच हजार अधिकारी हिस्सा ले रहे हैं।

 

 

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned