सबरीमला विवाद: महिलाओं के प्रवेश के समर्थन में आए बीजेपी सांसद, कहा-औरतें अपवित्र कैसे?

उन्होंने कहा कि महिलाएं अपवित्र कैसे हो सकती हैं जब पुरुषों का जन्म उनसे होता है।

नई दिल्ली। सबरीमला मंदिर में बुधवार को दो महिलाओं के दर्शन को लेकर केरल में भूचाल आ गया। कई हिन्दूवादी संगठनों सहित बीजेपी भी महिलाओं के प्रवेश को लेकर जमकर विरोध कर रही है। वहीं, महिलाओं के प्रवेश के बाद हजारों साल पूरानी परंपरा भी टूट गई है। लेकिन इस बीच बीजेपी के एक मंत्री ने इसका समर्थन कर इस विवाद और बढ़ा दिया है।

बीजेपी सासंद उदित राज ने ट्वीट कर मंदिर में महिलाओं के प्रवेश का समर्थन करते हुए ट्वीट किया है। उदित राज ने लिखा, 'मेरी व्यक्तिगत क्षमता और परिसंघ का चेयरमैन होने के नाते मैं अयप्पा मंदिर में महिलाओं के प्रवेश करने का समर्थन करता हूं।' उन्होंने कहा कि महिलाएं अपवित्र कैसे हो सकती हैं जब पुरुषों का जन्म उनसे होता है। ईश्वर सर्वव्यापी है अर्थात वह मंदिर के बाहर भी हैं। संविधान की दृष्टि में दोनों समान हैं।'

आपको बता दें कि बीजेपी सांसद का यह ट्वीट ऐसे समय में आया है, जब केरल में बीजेपी महिलाओं के मंदिर में प्रवेश के खिलाफ प्रदर्शनकर रही हैं। वहीं, आज सबरीमला विवाद से जुड़े वकील पीवी दिनेश ने सुप्रीम कोर्ट में मंदिर शुद्धिकरण के लिए पुजारी के खिलाफ अवमानना कार्यवाही शुरू करने की मांग करते हुए याचिका दायर की। पीवी दिनेश से इस याचिका पर तुरंत सुनवाई करने का आग्रह किया। लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने इनकार कर दिया। कोर्ट ने कहा इस मामले पर पहले से ही तय तारीख 22 जनवरी को सुनवाई हो।

गौरतलब है कि पिछले साल 28 सितंबर को सुप्रीम कोर्ट ने भगवान अयप्पा के मंदिर में 10 से 50 वर्ष उम्र वर्ग की महिलाओं को प्रवेश करने की अनुमति दे दी थी। लेकिन सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी मंदिर में महिलाओं को जाने से लगातार रोका जा रहा था। लेकिन बुधवार को 44 और 42 वर्ष की दो महिलाओं ने तड़के करीब पौने चार बजे मंदिर में प्रवेश कर भगवान अयप्पा के दर्शन किए।

Show More
Shivani Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned