Flight में सफर करते वक्त इन बातों का रखें ध्यान, कोरोना वायरस संक्रमण से होगा आपका बचाव

Highlights

-एयर इंडिया (Air India) की दिल्ली-लुधियाना (Delhi to Ludhiana Flight) उड़ान में एक कोरोना मरीज ने यात्रा की जिसके बाद सभी यात्रियों और क्रू मेंबर्स (सदस्य) को क्वारंटीन (Quarantine) कर दिया गया है

-फ्लाइट (Flight) , ट्रेन (Train) के खुलने के बाद कोरोना वायरस (Coronavirus Update) के तेजी से फैलने के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं

-25 मई से देशभर में उड़ानों को दोबारा शुरू किया गया, ताकि दूसरे शहरों में फंसे लोग अपने-अपने घर लौट सकें

नई दिल्ली. देश में घरेलू उड़ान (Flights in Lockdown) सेवाएं शुरू होने के बाद विमानों में कोरोना (Coronavirus Outbreak) संक्रमितों की यात्रा की खबरों ने हड़कंप मचा दिया है। एयर इंडिया (Air India) की दिल्ली-लुधियाना (Delhi to Ludhiana Flight) उड़ान में एक कोरोना मरीज ने यात्रा की जिसके बाद सभी यात्रियों और क्रू मेंबर्स (सदस्य) को क्वारंटीन (Quarantine) कर दिया गया है। फ्लाइट (Flight) , ट्रेन (Train) के खुलने के बाद कोरोना वायरस (Coronavirus Update) के तेजी से फैलने के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। 25 मई से देशभर में उड़ानों को दोबारा शुरू किया गया, ताकि दूसरे शहरों में फंसे लोग अपने-अपने घर लौट सकें। वहीं 1 जून से गो एयर (Go air) की फ्लाइट चलनी शुरू हो जाएगी। अगर आप भी फ्लाइट से घर जाने का प्लान कर रहे हैं तो ये सावधानियां जरूर बरतें।


-फ्लाइट लेते वक्त भी आपको शारीरिक दूरी बनाए रखनी है ताकि आप कोविड-19 संक्रमण से बचे रहें। फ्लाइट के अंदर भी सभी को एक सीट छोड़कर बैठने की इजाज़त है, वहीं एयर होस्टेस और अटेंडेंट्स को भी PPE मास्क और सूट पहनना ज़रूरी है। फ्लाइट में खाना नहीं मिलेगा और सैनिटाइज़र साथ में रखना अनिवार्य है।

-एयरपोर्ट पर डेस्क, हैंडलबार, रेलिंग और स्वचालित सीढ़ियां जैसे जगहों पर संक्रमण का खतरा और भी ज्यादा होता है। ऐसे में बेहतर ये होगा कि अपने साथ सैनेटाइजर लेकर चलें ताकि किसी चीज को छूने के बाद आप अपने हाथ को साफ कर लें।

-फ्लाइट में खाना खाने से पहले आपको अपने हाथों की सफाई का ध्यान जरूर रखना चाहिए। अपनी सुनिधा के लिए आप सैनेटाइजर का इस्तेमाल कर सकते हैं।


-इस वक्त सिर्फ उन्ही लोगों को सफर करने की इजाज़त है, जो अचानक लॉकडाउन की वजह से दूसरे शहरों में फंसे हुए थे। क्योंकि एक प्लेन हर जगह से बंद होता है, इसलिए उसमें सफर करना ज़्यादा ख़तरनाक है।


-कोरोना वायरस के दौरान उड़ान भरना सही मायनों में बेहद ख़तरनाक हो सकता है। हम जानते हैं कि कोविड-19 सांस से जुड़ा संक्रमण है, जो किसी संक्रमित व्यक्ति के खांसने या छींकने से फैल सकता है। साथ ही ये कोरोना वायरस कठोर सतह पर कई दिन तक ज़िंदा रहता है, जो इसे और भी ख़तरनाक बनाता है।


-फ्लाइट खासकर एक ऐसी जगह होती है जहां किसी भी सतह पर संक्रमित व्यक्ति की बूंदे जमा हो सकती हैं। खाने से लेकर लेवेट्री, हेडरेस्ट और टेबल तक, इन सभी सतहों पर कोरोना का संक्रमण रह सकता है। हाल ही के एक शोध में सबसे डराने वाली बात सामने आई थी, जिसमें पाया गया था कि सीट के पीछे की पॉकेट कीटाणुओं से भरी होती है।

इन चीजों को करने से बचे
- अपने सामान को सैनिटाइज़ कर साफ करें, ये एक ऐसी चीज़ है जिसपर वायरस आराम से रह सकता है।

- सैनिटाइज़र का इस्तेमाल बेहद ज़रूरी है। सभी एयरलाइन प्लेन को अच्छी तरह साफ करती हैं, लेकिन इसके बावजूद अपने साथ सैनिटाइज़र रखें। अपनी सीट पर बैठने से पहले उसे खुद भी अच्छी तरह सैनिटाइज़ करें।

- दरवाज़ों, नोब्स, ट्रे और टेबल को छूने से बचें।

- प्लाइट में सफर कर रहे लोगों को बाथरूम और वॉशरूम न इस्तेमाल करने की सलह दी गई है।

- अपने चेहरे और हाथों को न छुएं। जो लोग खांस रहे हैं, उन्हें खुद से दूर रखें।

- अपना मास्क किसी भी हालत में न हटाएं।

- अगर आपके पास विकल्प है तो खिड़की वाली सीट ही चुनें। शोध में पाया गया है कि जो यात्री खिड़की के पास बैठते हैं, उनके वायरस से संक्रमित होने के आसार काफी कम होते हैं।

- शारीरिक दूरी बनाए रखना बेहद ज़रूरी है।

- फ्लाइट से उतरने के बाद अच्छे से हाथों को धोएं।

किसे सफर नहीं करना चाहिए?

-गर्भवती महिलाओं, छोटे बच्चों, बुज़ुर्गों और ऐसे लोग जो पहले से बीमारी हैं उन्हें सफर से बचना चाहिए।

- अगर आप बीमार हैं और कोरोना वायरस के लक्षण भी हैं या आप कंटेंमेंट ज़ोन में रहते हैं तो ऐसे में सफर करना ख़तरनाक साबित हो सकता है।

Ruchi Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned