आपके शरीर में COVID-19 का 'दोस्त और दुश्मन' कौन? वैज्ञानिकों को मिली जानकारी

  • पूरी दुनिया में तेजी से अपना पैर पसार रहा है coronavirus
  • COVID-19 पर कई जगहों पर शोध जारी
  • इंसान के शरीर में corona का 'दोस्त और दुश्मन' कौन, वैज्ञानिकों का नया दावा

नई दिल्ली। पूरा देश इन दिनों कोरोना वायरस ( Coronavirus in india ) की चपेट में है। लॉकडाउन ( India Lockdown ) के बावजूद कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा पांच लाख के पार पहुंच चुका है। वहीं, इस महामारी से अब तक 16475 लोगों की मौत हो चुकी है। आलम ये है कि COVID-19 का आंकड़ा लगातार बढ़ता ही जा रहा है। इस महमारी का अब तक इलाज नहीं ढूंढा जा सका है। कई देशों में शोध ( Research on coronavirus vaccine ) जारी है, लेकिन कोई ठोस परिणाम सामने नहीं आया है। इसी बीच वैज्ञानिकों ( Scientist) ने यह पता लगाया है कि इंसान की बॉडी में कोरोना को 'दोस्त और दुश्मन' ( corona friends and enemies ) आखिर कौन है?

COVID-19 को लेकर वैज्ञानिकों का बड़ा दावा

दअरसल, पूरी दुनिया में COVID-19 को लेकर वैज्ञानिक ज्यादा से ज्यादा जानकारी जुटाने में लगे हैं। ताकि, इसकी दवाई तैयार किया जा सके। साथ ही यह पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि इंसान के शरीर में यह खतरनाक वायरस कैसे-कैसे फैलता है। इसी बीच कुछ वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि आखिर कोरोना वायरस इंसान की बॉडी में कैसे फैलता है। रिपोर्ट में कहा गया है कि वैज्ञानिकों ने जीन-एडिटिंग टूल (CRISPR-Cas9) के जरिए ये जानकारियां जुटाई है। रिसर्च में वैज्ञानिकों को पता चला है कि आखिर शरीर में ऐसा कौन सा जीन है, जो इस महमारी को फैलने और जड जमाने में उसकी मदद करता है।

ग्रीन मंकी पर शोध

रिपोर्ट में कहा गया है कि येल स्कूल ऑफ मेडिसिन ( Yale School of Medicine ), बोर्ड इंस्टिट्यूट और MIT और हावर्ड यूनिवर्सिटी ( Harvard University ) के वैज्ञानिकों ने कुछ जीन्स को अफ्रीकन ग्रीन मंकी के सेल्स में डाला। इसके बाद उन्होंने कोरोना संक्रमित किया गया। जांच में पता चला कि कौन से जीन प्रो वायरल मतलब वायरस को फैलाने वाले और कौन से उसके खिलाफ लड़नेवाले हैं। शोध में उन जीन और रास्तों को देखा गया, जो वायरस को शरीर में बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि प्रोटीन को रोल सबसे ज्यादा अहम है। शोध में पाया गया कि ACE2 रिसेप्टर और Cathepsin L प्रोटीन संक्रमण को शरीर में फैलने में मदद करते हैं। जबकि, हिस्टोन प्रोटीन फैलने से रोकता है। वैज्ञानिकों का कहना है कि इस स्टडी से पता चलता है कि COVID-19 शरीर में कैसे असर करता है और इससे वैक्सीन बनाने में भी काफी मदद मिलेगी। फिलहाल, यह दावा है इसके बारे में कोई पुख्ता जानकारी अभी सामने नहीं आई है। गौरतलब है कि इस महामारी ने पूरी दुनिया में हाहाकार मचा रखा है।

Coronavirus in india
Kaushlendra Pathak Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned