SEIR मॉडल बताएगा कोरोना के खात्मे की तारीख, जानें आपके राज्य का कब आएगा नंबर

  • Coronavirus End Date : मॉडल्स के तहत विभिन्न राज्यों मरीजों के आंकड़े लेकर तारीख का लगाया गया है अनुमान
  • ज्यातर राज्यों में जुलाई के आखरी और अगस्त के बीच कोरोना से छुटकारा मिलने की उम्मीद

By: Soma Roy

Published: 29 May 2020, 03:34 PM IST

नई दिल्ली। चीन के वुहान (Wuhan) से शुरू हुए कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर दिनोंदिन बढ़ता जा रहा है। हर कोई यही जानना चाहता है कि आखिर ये खत्म कब (End Date) होगा। इसी बात का जवाब देने के लिए तमाम वैज्ञानिक जुटे हुए हैं। इसी सिलसिले में एक्सपर्ट्स SEIR और हाइब्रिड (Hybrid Model) मॉडल्स की मदद ले रहे हैं। इन मॉडल्स में संबंंधित राज्य में सामने आ रहे ताजा केस, मृतक संख्या और स्वस्थ्य हो रहे मरीजों का आंकड़ा लेकर एक खाका तैयार किया जाता है। जिससे पता चलता है कि किस राज्य में किस तारीख तक मामले पूरी तरह से खत्म हो सकते हैं। इससे बीमारी के अंत की संंभावित तारीख भी पता लगाई जा रही है।

21 मई तक भारत में COVID-19 के करीब 1.13 लाख मामले दर्ज किए हैं, जिनमें से 63,000 से अधिक सक्रिय मामले हैं। वहीं मरने वालों की संख्या 3,435 है। कोरोना केस बढ़ने में महाराष्ट्र पहले नंबर पर है। यहां करीब 39,000 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं। जिनमें करीब 1,400 की मौत हुई है।

SEIR मॉडल के अनुसार महाराष्ट्र में 23 अगस्त तक और हाइब्रिड मॉडल के अनुसार 29 जुलाई तक महामारी समाप्त हो जानी चाहिए। मुंबई में SEIR मॉडल के अनुसार 25 अगस्त को कोरोना वायरस खत्म हो जाएगा और हाइब्रिड मॉडल के अनुसार यह 5 जुलाई तक बना रह सकता है। जबकि तमिलनाडु में अनुमानित अवधि 11 अगस्त और हाइब्रिड मॉडल के अनुसार 31 जुलाई है। दिल्ली में SEIR मॉडल के तहक कोरोना 15 अगस्त तक खत्म हो सकता है। जबकि हाइब्रिड मॉडल के अनुसार ये 30 जुलाई तक ही खत्म हो जाएगा।

इन राज्यों की भी बताई तारीख
SEIR मॉडल के अनुसार उत्तर प्रदेश में 19 अगस्त है और हाइब्रिड मॉडल के अनुसार 30 जून तक कोरोना के प्रभाव से छुटकारा मिल सकता है। गुजरात में, SEIR मॉडल के अनुसार अनुमानित अवधि 18 अगस्त और हाइब्रिड मॉडल के अनुसार 8 जुलाई है। पश्चिम बंगाल में, SEIR मॉडल के अनुसार 18 अगस्त और हाइब्रिड मॉडल के अनुसार 27 जुलाई है। ज्यादातर राज्यों में जुलाई के आखरी और अगस्त के मध्य सप्ताह तक इसके खात्मे की उम्मीद है। हालांकि एक्सपर्ट्स का यह भी कहना है कि नए मरीजों के सामने आने से स्थिति बदल भी सकती है।

Soma Roy Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned