370 हटने के बाद हिरासत में लिए अलगाववादी और राजनेता इस साल बाहर आना मुश्किल

370 हटने के बाद हिरासत में लिए अलगाववादी और राजनेता इस साल बाहर आना मुश्किल

  • Jammu Kashmir में शांति के लिए बड़ा कदम
  • article 370 हटने के बाद 8 दिन में 700 लोग हिरासत में
  • एक साल तक रह सकते हैं बंद

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर ( Jammu Kashmir ) से आर्टिकल 370 ( Article 370 ) हटाए जाने और दो केंद्र शासित प्रदेश बनाने के बाद जिन तीन अलगाववादी ( separatist leader ) नेताओं को हिरासत में लिया गया, उनके जल्दी रिहाई के आसार नहीं है। हिरासत में लेने वाले अधिकारियों के मुताबिक शांति बहाली के लिए इन सभी अलगाववादी नेताओं को एक साल तक हिरासत में रखा जा सकता है।

दरअसल पिछले एक हफ्ते से प्रदेश में शांति बहाल रखने और किसी भी तरह की अप्रिय घटना ना हो इसके लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल खुद घाटी में डेरा डाले हुए हैं।

Video: विशाखापट्टनम में धूं-धूं कर जल उठा कोस्टगार्ड जहाज, चालक लापता

mir

8 दिन में 700 को हिरासत में लिया
यही वजह है कि प्रशासन ने सुरक्षा के मद्देनजर बीते आठ दिनों के दौरान करीब 700 लोगों को हिरासत में लिया है।

इनमें से करीब 150 लोगों को देश के विभिन्न राज्यों की जेलों में स्थानांतरित किया है।

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता भी शामिल
जम्मू-कश्मीर में अलगवादियों को हिरासत में लेने के साथ-साथ नेशनल कॉन्फ्रेंस के महासचिव अली मोहम्मद सागर को भी बंद रखा गया है।

 

 

mehbooba

लद्दाख की सीमा के पास पाकिस्तान ने तैनात किए लड़ाकू विमान, अलर्ट पर भारतीय सेना

यही नहीं NC उपाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला के अलावा पीडीपी की अध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती भी गिरफ्तार नेताओं में शामिल हैं।

हालांकि महबूबा और उमर अब्दुल्ला को कब तक नजरबंद रखा जाएगा, इसको लेकर किसी के पास कोई
सिर्फ यही नहीं राज्य में बीते एक सप्ताह के दौरान हुई गिरफ्तारियों की संख्या का ब्योरा भी देने के लिए कोई अधिकारी तैयार नहीं है।

वादी में कोई भी किसी भी तरह से हिंसा न भड़का सके इसलिए विभिन्न नेताओं और अन्य लोगों को एहतियातन हिरासत में लिया गया है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned