असम में तोड़ी गई श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति, त्रिपुरा से हुई थी शुरुआत

Kapil Tiwari

Publish: Mar, 14 2018 10:36:59 PM (IST)

इंडिया की अन्‍य खबरें
असम में तोड़ी गई श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति, त्रिपुरा से हुई थी शुरुआत

कोकराझार में श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ती को तोड़ा गया है। इससे पहले कोलकाता में भी मुखर्जी की मूर्ति को तोड़ी गई थी।

कोकराझार: देश में मूर्ति तोड़ने का सिलसिला अभी थमा नहीं है। त्रिपुरा में लेनिन की मूर्ति को तोड़ने से शुरू हुआ ये सिलसिला अभी भी जारी है। मूर्ति तोड़ने का ताजा मामला असम से सामने आया है, जहां कोकराझार कस्बे में भारतीय जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ती को तोड़ा गया है। आपको बता दें कि इससे पहले श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति को कोलकाता में भी तोड़ा गया था।

असम में तोड़ी गई श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति
मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति को नुकसान पहुंचाने की इस घटना की पुष्टि खुद इलाके के एसपी राजेन सिंह ने की है। जानकारी के मुताबिक, मूर्ति को किसने तोड़ा है, अभी ये पता नहीं चल पाया है। एसपी राजेन सिंह ने बताया है कि अगर कोई संगठन मामले को लेकर केस दर्ज नहीं कराता है तो हम स्वत: संज्ञान लेकर मामले की जांच करेंगे।

त्रिपुरा से शुरू हुआ था मूर्ति तोड़ने का सिलसिला
आपको बता दें कि त्रिपुरा में भाजपा की सरकार बनते ही मूर्ति तोड़ने की घटना सामने आई थी। त्रिपुरा में सबसे पहले कथित तौर पर भाजपा समर्थकों ने रूसी क्रांति के महानायक व्लादीमिर लेनिन की मूर्ति को धवस्त कर दिया था। इसके बाद सत्ता में आते ही लेनिन की मूर्ति तोड़ी गई थी। इसके बाद तमिलनाडु के वेल्लोर में द्रविड़ आंदोलन के संस्थापक और समाजसुधारक ईवी रामासामी पेरियार की मूर्ति को तोड़ा गया था।

तमिलनाडु में भी हुई थी नफरत फैलाने वालीं घटनाएं
इसके बाद तमिलनाडु में ही बीजेपी दफ्तर पर बम फेंकने की घटना भी सामने आई थी। नफरत फैलाने की ये घटनाएं फिर भी नहीं थमीं और पश्चिम बंगाल में श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति को तोड़ गया। यूपी के मेरठ में भी बाबा साहेब अंबेडकर की प्रतिमा पर भी हमला कर उसे नुकसान पहुंचाया गया। दूसरी तरफ केंद्र ने इन घटनाओं को देखते हुए एक नई एडवाइजरी जारी की है।

मूर्ति तोड़ने की घटनाओं पर केंद्र ने जताई थी नाराजगी
इन घटनाओं के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने भी जिन राज्यों में इस तरह की घटनाएं हो रही हैं, उनसे रिपोर्ट मांगी है। होम मिनिस्ट्री ने कहा है कि इस मामले में सख्त कार्रवाई की जाएगी। गृह मंत्रालय ने राज्यों को भी इस तरह की घटनाओं पर कदम उठाने के आदेश दिए हैं। ये भी कहा था कि जो लोग में इसमें शामिल होंगे, उनसे सख्ती से निपटा जाएगा। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने इन घटनाओं पर कहा था कि मैं सभी पार्टियों से अपील करता हूं कि इस तरह की घटनाओं में शामिल लोगों पर सख्त कार्रवाई करें। इस तरह की हरकतों को सही करार नहीं दिया जा सकता।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned