पत्रिका फैक्ट चेक: क्या सच में गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को स्कूल खोलने के निर्देश दिए, जानिए हकीकत ?

वहीं सोशल मीडिया पर फेक न्यूज तेजी से वायरल हो रही है। वायरल मैसेज में दावा किया जा रहा है कि गृहमंत्रालय ने सभी स्कूल खोलने के निर्देश दिए हैं। खबर के बाद लोगों में भ्रम की स्थिति है।

 

नई दिल्ली। कोरोना वायरस का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है । खबर लिखे जाने तक देश में कोरोना मरीजों की संख्या डेढ लाख के पार हो गई है। वहीं चार हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो गई। इसकी रोकथाम के लिए सरकार ने लॉकडाउन जारी रखा है। हालांकि इस दौरान कुछ चीजों में रियायतें दी गई है। लेकिन शैक्षणिक संस्थानों के खोलने पर पाबंदी है। देश में सारे स्कूल, कॉलेज को बंद रखा गया है। वहीं सोशल मीडिया पर फेक न्यूज तेजी से वायरल हो रही है। वायरल मैसेज में दावा किया जा रहा है कि गृहमंत्रालय ने सभी स्कूल खोलने के निर्देश दिए हैं। खबर के बाद लोगों में भ्रम की स्थिति है।

दावा- गृह मंत्रालय ने सभी स्कूल खोलने के निर्देश दिए

तथ्य- सोशल मीडिया पर फेक न्यूज चल रही

क्या है वायरल मैसेज

दरअसल व्हाट्सएप, फेसबुक और ट्विटर समेत अन्य सोशल प्लेटफॉर्म पर एक मैसेज तेजी से वायरल हो रहा है। इसमें दावा किया जा रहा है कि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को स्कूल खोलने के निर्देश दिए हैं। सोशल मीडिया पर खबर फैलने के बाद पैरेंट्स में सच्चाई जानने की उत्सुकता बढ़ गई है। पत्रिका के व्हाट्एस नंबर पर एक जागरूक पाठक ने इस मैसेज को भेजकर सच्चाई जानने की कोशिश की।

ये भी पढ़ें: पत्रिका फैक्ट चेक: क्या सच में कोरोना पर काबू पाने के लिए मुंबई में मिलिट्री लॉकडाउन होगा लागू !, जानिए हकीकत

क्या है वायरल मैसेज की सच्चाई ?
पत्रिका फैक्ट चेक टीम ने जब इसकी सच्चाई जानने की कोशिश की तो हकीकत बिलकुल उलट निकली। पत्रिका ने सबसे पहले गृह मंत्रालय की वेबसाइट्स को खंगाला । जहां पर ऐसा कोई निर्देश नहीं मिला। उसके बाद कुछ कीवर्डस सर्च किए वहां भी ऐसी कोई खबर नहीं दिखी। पता चला कि सोशल मीडिया पर एक्टिव कुछ शरारती तत्वों ने भ्रम और गुमराह करने के लिए इस तरह के मैसेज वायरल किया है। पत्रिका अपने पाठकों और दर्शकों से अपील करता है सही और सटीक खबर देखने के लिए पत्रिका डॉट कॉम और पत्रिका मोबाइल एप का इस्तेमाल करें।

PIB ने फर्जी खबर बताया

वहीं प्रेस इन्फॉरमेशन ब्यूरो ने भी इस खबर को फर्जी करार दिया । पीआईबी ने बताया कि गृह मंत्रालय के निर्देश के मुताबिक देश भर के सभी शैक्षणिक संस्थान बंद है। ऐसे में यह खबर पूरी तरह से फेक है।

Prashant Jha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned