scriptSocial media viral message huge fire in Uttarakhand forests fake news | पत्रिका फैक्ट चेक: क्या सच में उत्तराखंड के जंगलों में लगी है भीषण आग, जानिए सच्चाई? | Patrika News

पत्रिका फैक्ट चेक: क्या सच में उत्तराखंड के जंगलों में लगी है भीषण आग, जानिए सच्चाई?

दरअसल व्हाट्सएप, ट्विवटर और फेसबुक पर यह मैसेज तेजी से वायरल हो रहा है। दावा है कि उत्तराखंड के जंगलों में आग लगी है..आग ने धीरे-धीरे पूरे जंगल को अपनी चपेट में ले लिया है।

नई दिल्ली

Published: May 28, 2020 02:27:12 pm

नई दिल्ली। देश इस वक्त कोरोना संक्रमण से जूझ रहा है। कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। कोरोना मरीजों की संख्या डेढ लाख के पार पहुंच गई है। वहीं दूसरी ओर सोशल मीडिया पर फेक न्यूज की बाढ़ आई हुई है। कोरोना से जुड़े और कोरोना के अलावा कई खबरें सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही है। ताजा मामला जंगलों में आग लगने को लेकर है। सोशल मीडिया पर मैसेज वायरल हो रहा है। मैसेज में दावा किया जा रहा है कि उत्तराखंड के जंगलों में आग बढ़ती जा रही है लेकिन सरकार इस पर ध्यान नहीं दे रही है। इस मैसेज से लोग घबराए हुए हैं।

Social media viral message
पत्रिका फैक्ट चेक: क्या सच में उत्तराखंड के जंगलों में लगी है भीषण आग, जानिए सच्चाई?

दावा- उत्तराखंड के जंगलों में आग का तांडव
तथ्य- आग की खबर पूरी तरह से गलत, विदेश की तस्वीरें वायरल

क्या है वायरल मैसेज ?
दरअसल व्हाट्सएप, ट्विवटर और फेसबुक पर यह मैसेज तेजी से वायरल हो रहा है। दावा है कि उत्तराखंड के जंगलों में आग लगी है..आग ने धीरे-धीरे पूरे जंगल को अपनी चपेट में ले लिया है। जंगल तेजी से जल रहा है। लेकिन सरकार इसे रोकने में नाकामयाब है।

ये भी पढ़ें: पत्रिका फैक्ट चेक: क्या सच में लॉकडाउन के दौरान सीएम नीतीश के काफिले पर हुआ पथराव, जानें सच्चाई?

क्या है वायरल मैसेज की सच्चाई?

पत्रिका फैक्ट चेक ने जब इसकी पड़ताल की तो पता चला कि यह मैसेज पूरी तरह से फर्जी और भ्रामक है। उत्तराखंड के जंगलों में ऐसी कोई आग नहीं लगी है। फैक्ट चेक टीम ने उत्तराखंड के वन विभाग की वेबसाइट को सर्च किया। साथ ही सरकार की आधिकारिक ट्विटर हैंडल को खंगाला । जिसमें कही पर भी आग लगने की खबर की जानकारी नहीं मिली। कुछ कीवर्ड्स सर्च करने पर आग लगने की पुरानी खबरें जरूर मिली। लेकिन हाल फिलहाल में आग की कोई खबर नहीं मिली। खुलासा हुआ कि सोशल मीडिया पर सक्रिय शरारती तत्वों ने ऐसे मैसेज वायरल को लोगों को गुमराह किया है।

PIB ने मैसेज को गलत करार दिया

वहीं प्रेस इनफॉरमेंस ब्यूरो ने भी इस खबर को गलत बताया। पीआईबी ने कहा कि दिखायी जा रही तस्वीरे पुरानी हैं तथा इनमें से कई दूसरे देशों से संबंधित हैं। कृपया ऐसी भ्रामक खबरों से सावधान रहें।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

नोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेरपुलिस में मामला दर्ज, नाराज कांग्रेस विधायक का इस्तीफा, जानें क्या है पूरा मामलाDelhi LG Resigned: दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने दिया इस्तीफा, निजी कारणों का दिया हवालाIndia-China Tension: पैंगोंग झील पर बॉर्डर के पास दूसरा पुल बना रहा चीन, सैटेलाइट इमेज से खुलासाHeavy rain in bangalore: तेज बारिश से दो मजदूरों की मौत, मुख्यमंत्री ने की मुआवजे की घोषणाज्ञानवापी मस्जिद: नौ तालों में कैद वजूखाना, दो शिफ्टों में निगरानी कर रहे CRPF जवान, महंतो का नया दावापाकिस्तान व चीन बॉडर पर S-400 मिसाइल तैनात करेगा भारत, जानिए क्या है इसकी खासियतप्रयागराज में फिर से दिखा लाशों का अंबार, कोरोना काल से भयावह दृश्य, दूर-दूर तक दफ़नाए गए शव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.