छठ के महापर्व पर अपनी मां को घर में बंद कर गया कलियुगी बेटा, पांच दिन तक भूख से तड़पती रही

छठ के महापर्व पर अपनी मां को घर में बंद कर गया कलियुगी बेटा, पांच दिन तक भूख से तड़पती रही

नई दिल्ली। झारखंड के धनबाद से दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। वैसे तो तीज त्योहार घर वालों के साथ मनाए जाते हैं, लेकिन कलियुगी बेटे ने छठ जैसे महापर्व पर अपनी ही मां को घर में बंद कर दिया। दरअसल धनबाद के हरिहरपुर थाना क्षेत्र में एक व्यक्ति ने अपनी मां के साथ बेहद बुरा बर्ताव किया है। एक तरफ लोग छठ का महापर्व मनाने में मशगूल थे तो वहीं दूसरी तरफ इस शख्स की बूढ़ी मां भूख से तड़प रही थी।


पैरों में भी लगी थी चोट
गोपाल वर्णवाल नाम के व्यक्ति ने अपनी मां को घर में कैद कर दिया क्योंकि वह छठ पूजा के लिए आसनसोल जाना चाहता था। पांच दिनों तक उसकी बूढ़ी मां घर में कैद रही। मां के पास खाने को भी कुछ नहीं था, साथ ही उनके पैर में भी चोट लगी थी। जब लोगों को इस बात का पता चला तो उन्होंने पुलिस को जानकारी दी। जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और बुजुर्ग मां को घर से बाहर निकाला। घटना थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले गुनघसा की है। यहां बुजुर्ग महिला अपने बेटे के साथ रहती है।


जानकारी के मुताबिक वह 11 नवंबर को अपनी मां को कैद करके गया था। मां इतनी बुजुर्ग है कि उन्हें अकेला नहीं छोड़ा जा सकता। चोट लगने के कारण वह ठीक से खड़ी भी नहीं हो सकतीं। जब पड़ोसियों को इस बात की जानकारी लगी तो उन्होंने बेटे को बताया, हालांकि तब तक ये बूढ़ी मां भूख और चोट से ही जूझती रही।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned