Jammu kashmir: दादा के शव पर बैठा रहा मासूम, आतंकी चलाते रहे गोली, लेकिन पुलिस ने बचाई मासूम की जान

  • Jammu kashmir: Sopore में आतंक की खौफनाक तस्वीर
  • आतंकी हमले में मारा गया आम नागरिक ( Civilian killed in terrorist attack ), दादा के शव पर बैठा रहा मासूम
  • खौफ के बीच 'मासूमियत' और दिल जीता 'इंंसानियत'

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस ( coronavirus in India ) संकट के बीच जम्मू-कश्मीर ( Jammu Kashmir ) से कुछ ऐसी तस्वीर सामने आई है, जिसने सबको अंदर से हिला कर रख दिया है। खून से लथपथ अपने दादा के शरीर पर बैठा एक तीन साल का मासूम। चारों तरफ गोलियों की आवाज। कुछ दूर बैठे एक जवान ( Soldier ) इशारा कर अपनी ओर उस बच्चे को बुलाते हुए। बड़ी मासूमियत से बच्चे का जवान की ओर चले जाना और फिर जवान उसे बच्चे को अपनी गोद में उठाकर पुचकारने लगता है। मानो ये सारा नजारा किसी फिल्म का हो, लेकिन ये सभी तस्वीरें जम्मू-कश्मीर ( Jammu Kashmir Encounter ) के सोपोर ( Encounter in Sopore ) इलाके के एनकाउंटर साइट की है। घाटी से आतंक की बेहद खौफनाक तस्वीर ( Photos ) देखकर सबक दिल दहल उठा है।

आतंक की बेहद खौफनाक तस्वीर

आतंकियों ( Terrorist ) ने अब घाटी में आम नागरिकों को भी निशाना बनाना शुरू कर दिया है। बिना कारण घाटी में मासूम नागरिकों को मारा जा रहा है। दरअसल, ये तस्वीर आज सुबह की है, जब आतंकियों ने सोपोर ( Encounter in Sopore ) इलाके में CRPF पार्टी पर अचानक हमला ( Terrorist Attack on CRPF Party ) कर दिया। इस हमले में देश का एक वीर सूपत यानी CRPF का जवान भी शहीद हो गया। जबकि, आतंकियों ने एक स्थानीय नागरिक की भी हत्या ( Murder ) कर दी। बताया जा रहा है कि मरने वाला स्थानीय नागरिक मासूम बच्चा का दादा था। दोनों दादा-पोता कहीं जा रहे थे, तभी आतंकियों ( Terrorist Attck in sopore ) ने उनपर ताबड़ोतोड़ फायरिंग कर दी। गोली लगते ही बच्चे का दादा जमीन पर गिर गया औऱ मौके पर ही मौत हो गई। बच्चे की मासूमियत देखिए, वह अपने दादा के शव पर जाकर बैठ गया। तस्वीर देखकर ऐसा लग रहा है जैसे उसका दादा उठेंगे और उसे एक बार फिर अपने साल ले जाएंगे।

हैवानियत के बीच 'मासूमियत और इंसानियत'

वहीं, घटनास्थल पर मौजूद एक जवान ने उस मासूम को अपनी ओर बुलाया। इधर-उधर देखते बच्चा जवान के पास पहुंच गया। आतंकियों से बच्चे को बचाने के लिए एक अन्य जवान उसे अपने साथ ले गया और दुलारते-पुचकारते उसका मन हल्का किया। इसके बाद गाड़ी में बिठाकर बच्चे को उसकी मां ले जाया गया। बताया जा रहा है मृतक शख्स 60 साल का था औऱ अपने पोते के साथ बाजार निकला था। यहां आपको बता दें कि हाल ही में आतंकियों ने बिजबेहरा इलाके में एक पांच साल के बच्चे की हत्या कर दी थी। आतंक की इस भयावह तस्वीर ने सबको अंदर से झकझोर दिया है।

Kaushlendra Pathak Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned