सुप्रीम कोर्ट में सुन्नी वक्फ बोर्ड की दलील, बाबरी मस्जिद ढहाने के पीछे ‘हिन्दू तालिबान’ का हाथ

Mohit sharma

Publish: Jul, 14 2018 08:54:09 AM (IST)

इंडिया की अन्‍य खबरें
सुप्रीम कोर्ट में सुन्नी वक्फ बोर्ड की दलील, बाबरी मस्जिद ढहाने के पीछे ‘हिन्दू तालिबान’ का हाथ

सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या विवाद मामले की सुनवाई के दौरान सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील राजीव धवन ने कहा है कि अयोध्या में हिन्दू तालिबान ने बाबरी मस्जिद ध्वस्त की थी।

नई दिल्ली। अयोध्या राम जन्मभूमि विवाद मामले में सुन्नी वक्फ बोर्ड का बड़ा बयान सामने आया है। सुप्रीम कोर्ट में मामले की सुनवाई के दौरान सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील राजीव धवन ने कहा है कि अयोध्या में हिन्दू तालिबान ने बाबरी मस्जिद ध्वस्त की थी। धवन ने कोर्ट में कि अफगानिस्तान के बामियान में जैसे मुस्लिम तालिबान ने बुद्ध की मूर्ति को तोड़ा, बिल्कुल वह हिन्दू तालिबान ने बाबरी मस्जिद के साथ किया। आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को अयोध्या मंदिर-मस्जिद विवाद मामले में सुनवाई कर रही थी।

केंद्रीय मंत्री जुएल उरांव की आदिवासियों को सलाह, बनना है तो विजय माल्या जैसे स्मार्ट बनो

दरअसल, सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील ने मुख्य न्यायधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय खंडपीठ के सामने कहा कि इस विवाद में शिया वक्फ बोर्ड को दखल का कोई अधिकारी नहीं है। धवन ने कोर्ट से अनुरोध किया वह इस्माइल फारुखी केस के अंश को पुनर्विचार के लिए संविधान पीठ के पास भेज दिया जाए। वहीं, शिया वक्फ बोर्ड का कहना है कि बाबरी मस्जिद का निर्माण शिया मीर बाकी ने कराया था। उन्होंने कहा कि शिया वक्फ बोर्ड के पास उसका पूरा हक होना चाहिए। सुप्रीम कोर्ट में शिया वक्फ बोर्ड की ओर से पेश वकील ने कहा कि वह इस विवाद का निपटारा बेहद शांतिपूर्ण ढंग से चाहते हैं। सुप्रीम कोर्ट ने दोनों पक्षों की दलीलों को ध्यान में रखते हुए 20 जुलाई को अगली सुनवाई की तारीख मुकर्रर की हैं

समलैंगिकता: याचिकाकर्ता को डर- कहीं आपस में संबंध न बनाने लगें सेना के जवान!

उधर, उत्तर प्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड का कहना है कि अयोध्या की इस विवादित भूमि पर कभी कोई मजिस्द थी ही नहीं। इसलिए वहां किसी मंस्जिद का निर्माण नहीं किया जाना चाहिए। बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने कहा कि यह भगवान राम की जन्मस्थली है। इसलिए वहां केवल राम मंदिर का निर्माण ही होना चाहिए। रिजवी ने यह भी कहा कि जो लोग बाबर से सहानुभूति रखते हैं, उनको आखिर में हार का मुंह देखना पड़ेगा।

Ad Block is Banned