'सुपर-स्प्रेडर' है यूके में बदला हुआ कोरोना वायरस, 70 प्रतिशत है वृद्धि दर

Highlights

  • नीति आयोग के सदस्य डॉ वीके पॉल ने बताया है कि अभी भारत इस खतरे से बहार है।
  • पॉल ने कहा कि हम अच्छी स्थिति में हैं और हमें इस गति को बनाए रखना है।

नई दिल्ली। ऐसे समय में जब भारत सक्रिय कोरोना वायरस मामलों में गिरावट देख रहा है, ब्रिटेन में कोविड -19 वायरस में नया उत्परिवर्तन हो गया है। इसे “सुपर-स्प्रेडर” का नाम दिया है। इसकी वृद्धि दर 70 प्रतिशत के आसपास है। नीति आयोग के सदस्य डॉ वीके पॉल के अनुसार मंगलवार को भारत ने कोरोना वायरस के इस उत्परिवर्तित को अभी तक नहीं पाया है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, भारत में मंगलवार तक कोरोना के मामले 3 लाख (2,92,518) से नीचे गिर गए हैं। ये 163 दिनों का सबसे कम है। कोरोना वायरस अपडेट पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए डॉ वीके पॉल ने कहा कि “हम अच्छी स्थिति में हैं और हमें इस गति को बनाए रखना है। यह सतर्कता वायरस को दबाने में मदद करेगा। ब्रिटेन में वायरस के नए उत्परिवर्तन को देखा गया है।

डॉ पॉल ने कहा, “हमने यूके के शोध समुदाय से बात की और हमें पता चला कि उत्परिवर्तन ने वायरस की संक्रामकता दर को बढ़ा दी है। कहा जा रहा है कि 70 फीसदी ट्रांसमिटिबिलिटी रेट बढ़ गया है। हम उन्हें कह सकते हैं कि वायरस सुपर-स्प्रेडर बन गया है।”

coronavirus
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned