केंद्र सरकार से सुप्रीम कोर्ट ने कहा, फ्री में करें कोरोना टेस्ट

  • Corona के बढ़ते खतरे के बीच Supreme court बोला
  • कोरोना का फ्री टेस्ट कराए सरकार
  • निजी लैब में महंगी जांच से बचें

नई दिल्ली। देशभर में कोरोना वायरस ( coronavirus in india ) का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। अब तक देश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 5000 के पार पहुंच चुकी है। वहीं सवा सौ से ज्यादा लोग इस वायरस के चलते अपनी जान गंवा चुके हैं। महाराष्ट्र ( Maharashtra ) और केरल ( Kerala ) में तो हालात और भी चिंताजनक बने हुए हैं।

इस बीच कोरोना वायरस महामारी को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सॉलिसिटर जनरल ( Solicitor general ) तुषार मेहता ( Tushar Mehta ) ने भारत सरकार की ओर से उठाए जा रहे कदमों के बारे में जानकारी दी। वहीं सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा है कि वे कोरोना वायरस की जांच मुफ्त कराना सुनिश्चत करें।

जिंदा ही नहीं मरने वालों को भी है लॉकडाउन के जल्द खत्म होने का इंतजार, जानिए क्या है पूरा मामला

डॉक्टरों के बाद अब लॉकडाउन को सफल बनाने में जुटे पुलिसकर्मियों की जान को भी बड़ा खतरा, कई जवान कोरोना पॉजिटिव

तुषार मेहता ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि सरकार महामारी के प्रसार को रोकने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर रही है। सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को सुझाव देते हुए कोरोना वायरस की जांच मुफ्त में कराने की व्यवस्था कराने को कहा है।

सुप्रीम कोर्ट ने सॉलीसिटर जनरल तुषार मेहता से कहा कि प्राइवेट लैब्स को कोरोना जांच के लिए ज्यादा चार्ज वसूलने ना दें। आप एक ऐसा प्रभावशाली तंत्र बना सकते हैं जिससे कि टेस्ट के खर्चे को रीम्बर्स ( प्रतिपूर्ति ) किया जा सके।

तुषार मेहता ने सुप्रीम कोर्ट को सरकार की तरफ से भरोसा दिया है कि वो इस बारे में विचार करेंगे।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned