टोल फ्री रहेगा डीएनडी, कोर्ट ने कंपनी से कहा- 'तारीफ तो ऐसे कर रहे हैं जैसे चांद तक सड़क बनाई हो'

टोल फ्री रहेगा डीएनडी, कोर्ट ने कंपनी से कहा- 'तारीफ तो ऐसे कर रहे हैं जैसे चांद तक सड़क बनाई हो'

कोर्ट ने कहा 32 करोड़ रुपए बस आपके बकाया निकलते हैं। कोर्ट ने कंपनी को फटकार भी लगाई और कहा आप डीएनडी रोड की तारीफ तो ऐसे कर रहे है जैसे आपने चांद तक की सड़क बना दी हो।

नई दिल्ली। एनसीआर की परिवहन व्यवस्था में अहम भूमिका निभाने वाला दिल्ली-नोएडा डीएनडी फ्लाई-वे आगे भी टोल टैक्स फ्री रहेगा। सुप्रीम कोर्ट ने आम आदमी को मिल रही राहत को बरकरार रखा है। दरअसल, आयकर विभाग ने कंपनी पर टैक्स नहीं देने का आरोप लगाते हुए अर्जी दाखिल की थी, अब टोल कंपनी से कोर्ट ने जवाब मांगा है। दूसरी तरफ कंपनी ने कहा कि कोर्ट के आदेश के बाद टोल नहीं वसूल पा रहे हैं। इस मामले की अगली सुनवाई 21 अगस्त को मामले की अगली सुनवाई होगी।

'रोजाना हो रहा 50 लाख का नुकसान'

गौरतलब है कि पिछली सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने कैग की रिपोर्ट टोल कंपनी समेत सभी पक्षकारों को देने का निर्देश दिया था। टोल कंपनी की ओर मुकुल रोहतगी ने कहा कि कंपनी को रोजाना 50 लाख रुपए का नुकसान हो रहा है, इसलिए मामले का जल्द समाधान किया जाना चाहिए। इससे पहले इलाहाबाद हाईकोर्ट ने टोल को रद्द कर दिया था और नोएडा टोल ब्रिज कंपनी ने सुप्रीम कोर्ट में इसे चुनौती दी थी।

'छह साल से घाटे में चल रही कंपनी'

सुप्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट के आदेश पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था। कोर्ट ने आदेश दिया था कि कैग बताए कि टोल बनाने में कितना खर्च आया और कंपनी अब तक कितना टोल वसूल चुकी है। कंपनी की ओर से अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा था कि पिछले छह साल से कंपनी घाटे में चल रही है। शर्त के मुताबिक 20 फीसदी सालाना इंटरनल रेट ऑफ रिटर्न यानी मिलना चाहिए।

'तारीफ तो ऐसे कर रहे हैं जैसे चांद तक सड़क बनाई हो'

कंपनी ने कोर्ट को बताया था कि उन्होंने अभी तक 1135 करोड़ रुपए खर्च किए हैं जबकि उनकी कमाई अभी तक 1103 करोड़ की हुई है। तब कोर्ट ने कहा 32 करोड़ रुपए बस आपके बकाया निकलते हैं। कोर्ट ने कंपनी को फटकार भी लगाई और कहा आप डीएनडी रोड की तारीफ तो ऐसे कर रहे है जैसे आपने चांद तक की सड़क बना दी हो।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned