दिल्ली-NCR में जारी रहेगा पटाखों की बिक्री पर बैन, पंजाब-हरियाणा HC का भी बड़ा फैसला

Kapil Tiwari

Publish: Oct, 13 2017 09:54:39 (IST) | Updated: Oct, 13 2017 01:09:29 (IST)

Miscellenous India
दिल्ली-NCR में जारी रहेगा पटाखों की बिक्री पर बैन, पंजाब-हरियाणा HC का भी बड़ा फैसला

पटाखा कारोबारी एसोसिएशन ने बुधवार को की थी सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल, 9 अक्टूबर को कोर्ट ने लगाया था बैन

नई दिल्ली: दिल्ली-एनसीआर के पटाखा कारोबारियों को सुप्रीम कोर्ट से तगड़ा झटका लगा है। दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने पटाखा कारोबारी एसोसिएशन की पुनर्विचार याचिका को खारिज कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने पटाखा कारोबारियों को राहत न देते हुए पटाखा बिक्री पर लगाई रोक को हटाने से इनकार कर दिया है।

पंजाब-हरियाणा में 9:30 बजे तक जला सकेंगे पटाखे

वहीं दूसरी तरफ पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने भी एक आदेश जारी कर दिवाली के दिन पटाखे जलाने का समय तय कर दिया है। आदेश के मुताबिक, दिवाली के दिन पंजाब और हरियाणा में शाम 6:30 से रात 9:30 बजे तक ही पटाखें जला सकेंगे। इसके अलावा पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने पटाखों के लाइसेंस के लिए ड्रॉ निकालने को कहा है, ड्रॉ की वीडियोग्राफी कराई जाएगी, ताकि किसी तरह की कोई गड़बड़ी न हो सके।

कारोबारियों ने भारी नुकसान का दिया था हवाला

आपको बता दें कि दिल्ली-एनसीआर में बैं के बाद पटाखा एसोसिएशन ने बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल की थी और इस पर जल्द सुनवाई की मांग की थी। लेकिन सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पटाखा कारोबारियों को फिर से बड़ा झटका लगा है। पुनर्विचार याचिका पर जस्टिस एके सीकरी की अध्यक्षता वाली बेंच ने सुनवाई की है। पटाखा कारोबारियों ने कहा था कि वो पटाखे खरीदने में काफी पैसा लगा चुके हैं और अगर ये बैन नहीं हटा तो उनका भारी नुकसान होगा।

 

crackers traders

भूख हड़ताल पर हैं कारोबारी
आपको बता दें कि 9 अक्टूबर को सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद दिल्ली-एनसीआर में पटाखा कारोबारियों का विरोध प्रदर्शन जारी है। दिल्ली की सबसे बड़ी थोक मार्केट सदर बाजार में पटाखा कारोबारी भूख हड़ताल पर बैठे हुए हैं। विरोध प्रदर्शन के दौरान कई कारोबारियों ने तो आत्मदाह तक की कोशिश की थी।

9 अक्टूबर को लगाया था बैन

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने लोगों की सेहत और पर्यावरण को ध्यान में रखते हुए पटाखों की बिक्री पर पूरी तरह से रोक लगा दी थी और दिवाली पर पटाखे बेचने के लिए जारी लाइसेंस तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया था। अदालत ने कहा था कि एक नवंबर के बाद शर्तो के साथ पटाखों की बिक्री हो सकेगी।

माननीय सर्वोच्च न्यायालय के इस फैसले के बाद बॉम्बे हाईकोर्ट ने भी महाराष्ट्र में पटाखों की बिक्री पर रोक लगा दी थी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned