तेजस एक्सप्रेस किराया : रेलवे बोर्ड ने दिन में दरें तय कीं, रात में बदलीं

तेजस एक्सप्रेस किराया : रेलवे बोर्ड ने दिन में दरें तय कीं, रात में बदलीं
Tejas Express

हवाई जहाज की टक्कर वाली सुविधाओं से लैस इस गाड़ी का किराया तय करने को लेकर रेलवे बोर्ड में दिन भर मशक्कत होती रही

नई दिल्ली। देश की पहली हाईटैक सुपरफास्ट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस 22 मई से मुंबई से गोवा के करमाली स्टेशन के लिए रवाना होगी। हवाई जहाज की टक्कर वाली सुविधाओं से लैस इस गाड़ी का किराया तय करने को लेकर रेलवे बोर्ड में दिन भर मशक्कत होती रही और एक बार दरें तय करने के बाद रात में उसे बदल दिया गया। अब तेजस का किराया शताब्दी एक्सप्रेस गाडिय़ों की तुलना में करीब नौ से दस प्रतिशत अधिक होगा।

रेलवे के आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि उद्घाटन सेवा में ट्रेन संख्या 02119 छत्रपति शिवाजी टर्मिनस स्टेशन से मंगलवार अपराह्न 15.25 बजे रवाना होगी और दादर, ठाणे, पनवेल और कुदाल स्टेशनों पर ठहरते हुए रात 12 बज कर 35 मिनट पर करमाली पहुंचेगी। सूत्रों ने बताया कि गैर मानसून दिनों में यह गाड़ी सोमवार एवं गुरुवार छोड़ कर सप्ताह में पांच दिन चलेगी जबकि मानसून दिनोंं में यह गाड़ी सप्ताह में तीन दिन चलेगी।

टिकट बुक करवाते वक्त पूछा जाएगा, भोजन चाहिए या नहीं
गाड़ी में एक एग्•ाीक्यूटिव श्रेणी और 12 चेयरकार कोच होंगे। सूत्रों के अनुसार तेजस में प्रीपेड भोजन की प्रणाली शुरू की जा रही है। यानी टिकट बुक करते वक्त यात्री से पूछा जाएगा कि क्या वह गाड़ी में उपलब्ध चाय, नाश्ता या भोजन की सुविधा लेना चाहता है या नहीं। गाड़ी में राजधानी, शताब्दी एवं अन्य प्रीमियम ट्रेनों की तर्ज पर शाकाहारी एवं मांसाहारी दोनों प्रकार का भोजन उपलब्ध कराया जाएगा। सूत्रों के अनुसार प्रीपेड खान पान की सेवा के विकल्प को नहीं चुनता है तो उसके मूल्य को किराए की राशि को कम कर दिया जाएगा। यदि गाड़ी में सवार होने के बाद कोई यात्री खानपान सेवा का उपभोग करना चाहे तो उपलब्ध होने की दशा में भोजन के मूल्य के साथ पचास रुपए अतिरिक्त शुल्क देकर ले सकता है।

सूत्रों ने बताया कि गाड़ी का किराया छत्रपति शिवाजी टर्मिनस से करमाली के बीच किराया एग्•ाीक्यूटिव श्रेणी में खानपान सहित 2740 रुपए और बिना भोजन के 2585 रुपए होगा, जबकि चेयरकार के लिए किराया भोजन सहित 1310 रुपए और बिना भोजन के 1185 रुपए होगा।

9 से 10 प्रतिशत अधिक होगा किराया
उल्लेखनीय है कि रेलवे बोर्ड में तेजस के किरायों को तय करने को लेकर आज (शनिवार) दिनभर माथापच्ची चली और दिन में एक बार तेजस की किराया दरें निर्धारित करने के बाद शनिवार रात में उसे बदल दिया गया। दिन में रेल अधिकारियों ने बताया था कि तेजस का किराया शताब्दी एक्सप्रेस की तुलना में बीस प्रतिशत अधिक होगा, लेकिन रात में घोषित नए किराए में यह अंतर महज नौ से दस प्रतिशत अधिक दिखा।

विमान के केबिन का एहसास दिलाएंगे कोच
सूत्रों ने बताया कि एलएचबी फ्रेम पर निर्मित यह पूर्णत: एसी ट्रेन अधिकतम 200 किलोमीटर प्रतिघंटा की गति से दौडऩे में सक्षम होगी। तेजस के कोचों को आधुनिक और लक्जरी स्टाइल में डि•ााइन किया गया है। तेजस के कोच के अंदर का नजारा किसी विमान के केबिन का अहसास कराता है। तेजस में दो तरह की सीटें एग्जीक्यूटिव क्लास और चेयर कार होंगी। इस ट्रेन में तमाम लक्जरी सुविधाएं जैसे, मनोरंजन, स्थानीय भोजन और वाई-फाई सुविधा शामिल हैं।

ट्रेन पर ब्रेललिपि डिस्प्ले भी होंगे
तेजस में सीट के सामने एलईडी स्क्रीन होगा जिसमें अभी रिकॉर्डेड सामग्री होगी। बाद में लाइव टीवी भी देखा जा सकेगा। हर कोच में बायो वैक्यूम टॉयलेट, वाटर लेवल इंडीकैटर, टैप सेंसर और हैंड ड्रायर भी शामिल हैं। इस ट्रेन पर ब्रेललिपि डिस्प्ले भी होंगे जो दृष्टिबाधित लोगों को आसानी से जानकारी उपलब्ध कराएंगे। तेजस में चाय, कॉफी की वेडिंग मशीनें, चिप्स पैकेट और मैगजीन भी उपलब्ध होंगी।

रोशनी के लिए एलईडी लाइट
सुरक्षा के लिए पूरी ट्रेन सीसीटीवी से लैस होगी। आग से बचाव के लिए लिए कोच एवं पावर कार में फायर डिटेक्टर सिस्टम भी लगे होंगे। फर्श पर मार्बल फिनिश एंटर ग्रैफिटी कोटिंग होगी और रोशनी के लिए पूरी तरह से एलईडी लाइट लगाई गई हैं। नई डिजाइन की कचरापेटी होगी। कोच की बाहरी दीवार की विनाइल रैपिंग की गई है। ऑटोमैटिक प्लग टाइप प्रवेश द्वार लगाए गए हैं जिनकी आवाज बेहतर है और ये अंदर के वातावरण को बाहर की गर्मी से बचाते हैं। दरवाजों  को गार्ड पैनल से नियंत्रित किया जा सकता है।

हर सीट पर यूएसबी चार्जिंग सुविधा
गाड़ी में इलैक्ट्रो न्यूमैटिक एयर ब्रेक प्रणाली, कॉल बेल और बर्थ रीडिंग लाइट लगाई गई है। जीपीएस आधारित यात्री सूचना डिस्प्ले प्रणाली लगाई गई है। सीटों के टिकने वाले भाग और आर्मरेस्ट को अधिक ऊंचा एवं नई डिजायन से बनाया गया है। एक्जीक्यूटिव चेयरकार श्रेणी में गैस स्प्रिंग वाला लेग सपोर्ट लगाया गया है। हर सीट पर यूएसबी चार्जिंग सुविधा होगी। स्थानीय व्यंजन और सेलेब्रिटी शेफ मेन्यू, दोनों ही उपलब्ध कराए जाएंगे। पंजाब में कपूरथला स्थित रेल कोच कारखाने में तैयार इस रैक को मुंबई भेजा गया है। रास्ते में दिल्ली के सफदरजंग स्टेशन पर शुक्रवार को रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने इस रैक का अवलोकन किया था।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned